shaheed diwas

 23 मार्च यानी की देश की आज़ादी के लिए हस्ते हस्ते अपने जीवन का बलिदान देने वाले वीर भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु का शहादत दिवस, जिसे पूरे देश मना रहा है. आज ही के दिन भारत के इन तीन वीरो को अंग्रेजी सरकार ने फांसी के तख्ते पर लटका दिया था.

8 अप्रैल 1929 को चंद्रशेखर आज़ाद के नेतृत्व में ‘पब्लिक सेफ्टी’ और ‘ट्रेड डिस्प्यूट बिल’ के विरोध में ‘सेंट्रल असेंबली’ में बम फेंका गया था. जिसके बाद अंग्रेजी सरकार ने क्रांतिकारियों की गिरफ़्तारी करना शुरू की थी. इसी सिलसिले में भगतसिंह, सुखदेव और राजगुरु को 24 मार्च 1931 को फांसी की सजा दी जानी थी.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -