इतिहास के पन्नों का काला दिन है 'शहीद दिवस'

शहीद दिवस : आज शहीद दिवस है जिसका हमारे जीवन में बहुत महत्व है। आप सभी जानते ही होंगे की शहीद दिवस भारत में 23 मार्च को मनाया जाता है।  इस दिन 1931 में भारत के तीन महान क्रांतिकारियों भगतसिंह, सुखदेव और राजगुरु को फांसी दी गई थी। भारत के इतिहास के पन्नो में इस दिन को काला दिन भी कहा जाता है। इस दिन को आज भारत में इन तीन वीरों को श्रद्धांजलि देकर मनाया जाता है। सिर्फ यहीं नहीं बल्कि शहीद दिवस को राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की याद में भी मनाया जाता है।

इतिहास की कहानी के अनुसार 24 मार्च, 1931 को भगतसिंह, राजगुरु और सुखदेव को सुबह 8 बजे  फांसी दी जानी थी लेकिन ऐसा ना होकर इन तीनो को 23 मार्च, 1931 को ही फांसी दे दी गई थी। और उसके बाद इनके शव को इनके रिश्तेदारों के घर पहुंचा दिया गया था। रिश्तेदारों ने इनके शव को सतलुज नदी के किनारे जलाया था। इसके बाद से शहीद दिवस को 23 मार्च को मनाया जाने लगा। आपको बता दें की 30 जनवरी को भी बापू की याद में भी शहीद दिवस मनाया जाता है।

ऐसी ही अन्य खबरों के लिए नीचे लिंक्स पर क्लिक करें :-

शहीद दिवस : मर कर भी ना निकलेगी दिल से वतन की उल्फत, मेरी मिट्टी से भी खुशबू-ए- वतन आएगी

शहीद दिवस आज : भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को करें नमन

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -