वैक्सीन बढ़ाने की मांग पर बोले स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन- इन आरोपों से केंद्र की छवि धूमिल हो रही है...

कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण पाने के लिए वैक्सीनेशन मुहिम चलाई गई है, किन्तु टीके की कमी की वजह से कई प्रदेशों में यह मुहिम कमजोर पड़ती जा रही है। महाराष्ट्र, दिल्ली, आंध्र प्रदेश, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, राजस्थान तथा ओडिशा में टीके की कमी की वजह से कई केंद्रों को बंद कर दिया गया है। तत्पश्चात, केंद्र और राज्य सरकारों में आरोप प्रत्यारोप का दौर आरम्भ है। 

वही इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने राज्यों की तरफ से टीके की कमी के प्रश्न उठाने पर नाराजगी व्यक्त की। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि राज्यों के ये आरोप केंद्र सरकार के समग्र दृष्टिकोण को नुकसान पहुंचाता है तथा लोगों में ओछी राजनीति को दर्शाता है। 

दरअसल, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन बृहस्पतिवार को छह राज्यों में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण पर समीक्षा बैठक की।  बैठक में राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों ने वैक्सीन की खुराक बढ़ाने की मांग की। बता दें कि ये सभी राज्य कोरोना की दूसरी लहर से बुरी तरह प्रभावित हैं। इन प्रदेशों में कर्नाटक का सबसे बुरा हाल है। कर्नाटक के बंगलूरू में संक्रमण दर 34 फीसदी तक पहुंच गई है, यह देश के किसी भी शहर की तुलना में सर्वाधिक हैं। इसके पश्चात् मुंबई में कोरोना से स्थिति खराब है। वहीं दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 14 फीसदी है।

'कोरोना भी एक जीव, उसे भी जीने का अधिकार...', पूर्व सीएम का 'बेतुका' बयान

अब शारदा अस्पताल में नहीं होगी ऑक्सीजन की समस्या, 21 हजार लीटर का नया प्लांट शुरू

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर केस: जमानत के लिए HC पहुंचा नवनीत कालरा, कांग्रेस सांसद बने वकील

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -