'कोरोना भी एक जीव, उसे भी जीने का अधिकार...', पूर्व सीएम का 'बेतुका' बयान

May 14 2021 09:39 AM
'कोरोना भी एक जीव, उसे भी जीने का अधिकार...', पूर्व सीएम का 'बेतुका' बयान

देहरादून: कोरोना महामारी के बीच उत्तराखंड के पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने एक बेतुका बयान दिया है. त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गुरुवार को कहा कि कोरोना वायरस भी एक जीवित जीव है, जिसे जीने का अधिकार है. सोशल मीडिया पर त्रिवेंद्र सिंह रावत का यह बयान जमकर वायरल हो रहा है और लोग उनकी खिंचाई कर रहे हैं.

दरअसल, पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा था कि, 'दार्शनिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो कोरोना वायरस भी एक जीवित जीव है, बाकी जीवों की तरह इसे भी जीने का अधिकार है, किन्तु हम (मनुष्य) खुद को सबसे बुद्धिमान समझते हैं और इसे खत्म करने के लिए तैयार हैं, इसलिए यह खुद को लगातार बदल रहा है.' हालांकि, पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इंसानों को सुरक्षित रहने के लिए वायरस से आगे निकलने की आवश्यकता है. इस बयान को लेकर पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत को सोशल मीडिया पर जमकर भला-बुरा कहा जा रहा है. इस वक़्त देश कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है और हर हिस्से में मौतें हो रहीं हैं.

पूर्व सीएम के बयान पर कांग्रेस नेता गौरव पंधी ने कहा कि ऐसे लोगों के बयानों से यह आश्चर्य की बात नहीं होनी चाहिए कि हमारा देश आज विश्व में सबसे अधिक मानवीय त्रासदी झेल रहा है. एक ट्विटर यूजर ने पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के बयान पर तंज कसते हुए कहा, 'इस वायरस जीव को सेंट्रल विस्टा में आश्रय दिया जाना चाहिए.'

 

इजराइल ने दिखाया बड़ा दिल, उठाएगा केरल की सौम्या संतोष के परिवार का पूरा खर्च

EC का बड़ा फैसला- कोरोना काल में स्थगित किए आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के विधान परिषद चुनाव

कर्नाटक कांग्रेस की मांग- लॉकडाउन से प्रभावित लोगों के लिए जारी करें वित्तीय पैकेज