युद्ध की आशंकाओं के बीच बोले इमरान 'इस मुद्दे को शांतिपूर्वक वार्ता करके सुलझाना होगा'

Feb 27 2019 05:02 PM
युद्ध की आशंकाओं के बीच बोले इमरान 'इस मुद्दे को शांतिपूर्वक वार्ता करके सुलझाना होगा'

इस्लामाबाद : पाकिस्तानी वायुसेना द्वारा भारतीय सैन्य ठिकानों पर हमला करने के बाद भारत ने जवाबी कार्रवाई करते हुए उन्हें वापस लौटने को मजबूर कर दिया। पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर भारत की एयर स्ट्राइक के जवाब में पाकिस्तान ने यह हरकत आज सुबह की। एयर स्ट्राइक के बाद से भारत को करारा जवाब देने की बात करने वाले पाकिस्तान ने आज की कार्रवाई के बाद फिर शांति का राग अलापा है। 

अपनी ताकत दिखाने के लिए भारत में खाली जगहों पर गिराए बम : पाक आर्मी

कुछ ऐसा बोले इमरान खान 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि युद्ध से किसी भी पक्ष को लाभ नहीं होने वाला है इसलिए इस मुद्दे को शांतिपूर्वक वार्ता करके सुलझाना होगा। पाक पीएम इमरान खान ने कहा, 'पुलवामा हमले के बाद हमने भारत के सामने शांति का प्रस्ताव रखा था। हमने भारत के समक्ष प्रस्ताव रखा कि हम मामले की जांच करेंगे। हम तब भी सहयोग के लिए तैयार थे और अब भी तैयार हैं। मुझे डर था कि भारत कोई कार्रवाई करेगा इसीलिए मैंने भारत को आक्रामकता दिखाने के खिलाफ चेताया था।

आईएसएसएफ 2019 : फाइनल के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई भाकर और सिद्धू

सभी युद्ध गलत हैं

प्राप्त जानकारी के अनुसार इमरान ने कहा, 'हमारी कार्रवाई सिर्फ यह संदेश देने के लिए थी कि यदि आप हमारे देश में जबरन घुस सकते हैं तो हम भी ऐसा करने में सक्षम हैं।' खान ने आगे कहा, 'सभी युद्ध गलत हैं और कोई नहीं जानता कि युद्ध हमें किस स्थिति में ले जाएंगे। पहले विश्वयुद्ध को कुछ हफ्तों में खत्म हो जाना था लेकिन इसे समाप्त होने में छह साल लग गए, इसी तरह आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को 17 साल तक नहीं चलना चाहिए था।

जैश फिर बना रहा था हमले की योजना, तभी की कार्रवाई : सुषमा स्वराज

आज दूसरी बार हनोई में मिलेंगे किम जोंग उन और डोनाल्ड ट्रम्प

विदेश मंत्रियों की बैठक में शामिल होने के लिए चीन रवाना हुई सुषमा स्वराज