अपनी ही पार्टी के खिलाफ बोल गए जी परमेश्वर, कहा कांग्रेस में मौजूद दलित विरोधी लोग

बेंगलुरु : कर्नाटक के डिप्टी सीएम जी परमेश्वर ने रविवार को कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा है कि पार्टी में कुछ लोग दलित नेताओं के उदय को रोकने का प्रयास कर रहे हैं. इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया है कि उन्हें तीन बार सीएम पद से इसलिए वंचित किया गया, क्योंकि वे दलित समुदाय से आते हैं.

हिमाचल में रैली के दौरान गडकरी ने दी प्रदेश को कई सौगातें

दावणगेरे में एक कार्यक्रम में बोलते हुए दलित नेता परमेश्वर ने कहा है कि, ‘‘बसवलिंगप्पा भी सीएम नहीं बन पाए और केएच रंगनाथ के साथ भी यही हुआ.’’ कांग्रेस नेता ने कहा है कि हमारे बड़े भाई मल्लिकार्जुन खड़गे भी सीएम नहीं बन पाए. मैं खुद तीन बार इससे वंचित रह गया. काफी संकट के बाद उन्होंने मुझे डिप्टी सीएम बनाया है.’’ परमेश्वर ने आरोप लगाया है कि कुछ लोग उन्हें सियासी रूप से दबाना चाहते हैं.उल्लेखनीय है कि कर्नाटक में गठबंधन की सरकार का गठन होने के बाद भी जी परमेश्‍वर ने मंत्रिपद के आवंटन को लेकर भी नाराजगी व्यक्त की थी. कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने डिप्टी सीएम जी परमेश्वर से महत्वपूर्ण माने जाने वाले गृह विभाग का प्रभार भी वापस लेकर  एमबी पाटिल को दे दिया था.

जम्मू में गरजे अमित शाह, कहा- पीएम मोदी ही दे सकते हैं पाक को मुंहतोड़ जवाब

कांग्रेस की प्रदेश इकाई के नेताओं के लिए विभागों के आवंटन की प्रक्रिया में पेंच फंसते देख पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसे अपनी हरी झंडी दी थी. बेंगलुरु संबंधित कार्यों के प्रभार को परमेश्वर के पास कायम रखते हुए उन्हें कानून एव‍ं संसदीय मामलों का अतिरिक्त प्रभार भी सौंपा  गया था, जो इससे पहले ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज विभाग देख रहे कृष्ण बायरे गौड़ा के प्रभार में था.

खबरें और भी:-

बांग्लादेश में विमान हाईजैक करने की नाकाम कोशिश, सभी यात्री सुरक्षित

भाजपा-शिवसेना के गठबंधन के बाद महाराष्ट्र में सियासत तेज़, NDA के घटक दल करेंगे बैठक

लालू और राहुल की मुलाकात पर संशय के बादल, राजद मिलने की इच्छुक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -