दलित राजनीति में बढ़ी चुनौतियां, इस नेता ने किया नई पार्टी का ऐलान

देश में नई राजनीतिक पार्टी का जन्म होने वाला है. इस पार्टी को बनाने का निर्णय भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने लिया है. चंद्रशेखर रावण की नई पार्टी का नाम 'आजाद समाज पार्टी' होगा. भीम आर्मी संगठन को राजनीतिक रुप देने के लिए चंद्रशेखर आजाद उर्फ 'रावण' ने 15 मार्च की तारीख सोच समझकर तय की है. बता दें कि 15 मार्च कांशीराम की जयंती है. कांशीराम बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक थे. वह 90 के दशक में देश में दलितों के प्रमुख नेता और चेहरा थे. 

सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों के कांपेंगे हाथ, योगी सरकार करने वाली ये काम

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए चंद्रशेखर आजाद उर्फ 'रावण' को नोएडा प्रशासन ने पार्टी लॉन्चिंग के मौके पर बड़ी भीड़ इकट्ठा नहीं करने का निर्देश दिया था. उनके कार्यक्रम को भी हरी झंडी नहीं दी गई थी. लेकिन 'रावण' के समर्थकों की बड़ी भीड़ कार्यक्रम स्थल पर जमा हो गई. भीड़ ने ताला तोड़कर कार्यकम स्थल में प्रवेश किया. चूंकि भीड़ इतनी ज्यादा थी कि पुलिस ने कोई रिस्क नहीं लिया. पुलिस ने कार्रवाई करने की हिदायत देते हुए कार्यक्रम की मंजूरी दे दी.

अब शायद ही बच पाएंगे सपा सांसद आजम खां

अगर आपको नही पता तो बता दे कि चंद्रशेखर आजाद उर्फ 'रावण' का जन्म उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में 6 नवंबर 1986 को हुआ. उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई सरकारी स्कूल से की और लखनऊ विश्वविद्यालय से उन्होंने वकालत की डिग्री हासिल की. चंद्रशेखर आजाद उर्फ 'रावण' के पिता एक व्यापारी हैं और मां गृहणी हैं. चंद्रशेखर आजाद उर्फ 'रावण' ने करीब 8 साल पहले साल 2012 में विनय रतन नाम के एक शख्स के साथ भीम आर्मी का गठन किया था.

बिहार: यह चुनाव महागठबंधन पर पड़ा भारी

मध्यप्रदेश कांग्रेस के लिए आज का दिन अहम, जयपुर से वापस लौटे विधायक

राज्‍यसभा चुनाव : गुजरात में कांग्रेस को लग सकता है एक और झटका

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -