उत्तरप्रदेश: आईपीएस सुरेंद्र दास की मौत का हुआ खुलासा

Dec 10 2018 01:56 PM
उत्तरप्रदेश: आईपीएस सुरेंद्र दास की मौत का हुआ खुलासा

लखनऊ: उत्तरप्रदेश में हुई आईपीएस सुरेंद्र दास की मौत की जांच करीब तीन महीने से चल रही थी, जिसके बाद निष्कर्ष निकालते हुए एसपी पश्चिम ने बीते दिन उच्चाधिकारियों को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। जानकारी के अनुसार बता दें कि इस रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है कि उनकी मौत का जिम्मेदार कोई नहीं है। वहीं बता दें कि रिपोर्ट के मुताबिक सुरेंद्र दास ने डिप्रेशन में आकर आत्महत्या की थी। लिहाजा उनकी मौत के बाद कई लोगों पर संदेह जताते हुए आरोप लगाया गया था लेकिन अंत में सभी आरोप बेबुनियाद निकले। बता दें कि सितंबर माह में सुरेंद्र दास ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी।

शशि थरूर ने बढ़ाई रविशंकर की मुश्किलें, केस दर्ज करा थमाया नोटिस

वहीं एसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि यह एक आत्महत्या है, इसमें किसी को भी दोषी नहीं ठहराया जा सकता। इसके साथ ही उन्होने बताया कि आईपीएस सुरेंद्र दास खुद सोशल मीडिया पर मौत के तरीके ढूंढते रहते थे और वह काफी तनाव में भी थे, जिसकी वजह से उन्होंने यह कदम उठाया। इसके अलावा उनके परिवारजनों पर आरोप लग रहे थे लेकिन तीन महीने तक चली पूरी जांच के बाद जो निष्कर्ष निकला है उसमें किसी को भी दोषी नहीं पाया गया है।

शोक में डूबे पीएम मोदी, सबसे करीबी ने दुनिया को कहा अलविदा

यहां बता दें इस मामले में दिवंगत आईपीएस के ससुर ने सुरेंद्र के भाई, भाभी, मां और बहनों को उनकी आत्महत्या का जिम्मेदार बताया था। वहीं उनका कहना था कि अपने परिवार की वजह से सुरेंद्र काफी तनाव में रहते थे। उन्होंने इस मामले में कई कॉल रिकॉर्डिंग भी जारी किए थी, जिसकी वजह से आईपीएस का परिवार भी संदेह के घेरे में आ गया था। वहीं ससुरालवालों ने कहा था कि सुरेंद्र का परिवार हमेशा उनसे रुपए की डिमांड करता था, जिसकी वजह से वो काफी प्रेशर में भी थे। आरोप यह भी लगाया गया कि रवीना से पहले भी सुरेन्द्र दास की एक और युवती से वैवाहिक रस्में हुई थीं। उस लड़की को सुरेंद्र भी काफी पसंद करते थे लेकिन सिर्फ परिवार के दबाव में आकर उन्होंने इस रिश्ते को तोड़ दिया था।


खबरें और भी 

मुंबई एयरपोर्ट का बना रिकॉर्ड, एयरपोर्ट से एक दिन में हुई 1007 उड़ानें

हाईकोर्ट ने सरकार को दिया इन्हें नियमित करने का आदेश

इस प्रदेश में इन प्लॉट धारकों का होगा ब्याज माफ़