सपा में शामिल हुए किसान नेता तेजेंद्र सिंह विर्क

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों से पहले सपा में नेताओं के आने का सिलसिला जारी है. समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव की उपस्थिति में किसान नेता तेजेंद्र सिंह विर्क ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. आजाद समाज पार्टी के मुखिया चंद्रशेखर से संबंधित प्रश्न पर बोले अखिलेश ने कहा कि वे 2 सीटों पर तैयार थे तथा पता नहीं कहां उनकी दिल्ली चर्चा हुई, वे बदल गए. उन्होंने आगे बताया कि वे भाई बनकर सहायता करना चाहते हैं तो करें.

इसके साथ ही अखिलेश ने बताया कि मैंने आजाद को दो सीट दी, उन्होंने स्वीकार की. मगर फिर कॉल पर चर्चा करके कहा कि संगठन तैयार नहीं है, कहीं बैठकर कोई षड्यंत्र कर रहा है. शामली की कैराना विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी प्रत्याशी नाहिद हसन की बजाय उनकी बहन इकरा मुनव्वर को लड़ाए जाने पर अखिलेश ने कहा कि वो पार्टी तय कर लेगी. अखिलेश ने आगे बताया कि हम संकल्प लेते हैं कि जिन्होंने किसानों पर अत्याचार किए उन्हें हटाएंगे और हराएंगे.

आगे उन्होंने कहा, जिन किसानों पर केस हुआ वो वापस होंगे, तथा पीड़ित किसानों को 25 लाख का मुआवजा दिया जाएगा, सपा का मैनीफेस्टो आएगा ही मगर किसानों के लिए MSP तथा गन्ने का भुगतान 15 दिन में होगा, 300 इकाई के साथ, किसानों को फ्री बिजली तथा बीमा देंगे. अखिलेश ने कहा कि सपा का मैनिफेस्टो इस बार भाजपा के मैनिफेस्टो के पश्चात् आएगा, उन्होंने पूछा कि भाजपा बताएं कि उत्तर प्रदेश में कितनी स्मार्ट सिटी बनकर तैयार हैं. अखिलेश ने इस के चलते सरकार में आने के पश्चात् 15 दिनों में गन्ना बकाया का भुगतान, किसानों को फ्री बिजली तथा बीमा की सुविधा देने की भी घोषणा की. अखिलेश ने इस के चलते अन्य नेताओं के साथ मिलकर भाजपा को जरने का ‘अन्न संकल्प’ लिया. अखिलेश ने बताया कि किसानों पर अत्याचार करने वालों को सरकार में नहीं रहने देंगे.

यूपी चुनाव में पीएम मोदी ने खुद संभाला मोर्चा, टिकट बंटवारे पर बैठक में हुए शामिल

यूपी चुनाव: क्या अयोध्या में 'मोदी की काशी' जैसा करिश्मा कर पाएंगे योगी आदित्यनाथ ?

फर्म में निवेशकों को गुमराह करने के आरोप में इस कंपनी के संस्थापक को 26 सितंबर को होगी जेल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -