भंग हुई तेलंगाना विधानसभा, चंद्रशेखर राव ने माँगा नया जनादेश

भंग हुई तेलंगाना विधानसभा, चंद्रशेखर राव ने माँगा नया जनादेश

हैदराबाद: तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने आज विधानसभा को भंग करने और अप्रैल 2019 में निर्धारित चुनावों के मुकाबले एक नया जनादेश मांगने का फैसला किया, राव इस साल दिसंबर में मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम के साथ चुनाव लड़ना चाहते हैं. मुख्यमंत्री ने गवर्नर ईएसएल नरसिम्हा से मुलाकात की और आज दोपहर आयोजित कैबिनेट की बैठक में अपनाया गया एक प्रस्ताव प्रस्तुत किया जिसमे विधानसभा को भंग करने का और जल्द चुनाव कराने की मांग की गई है.

जानें क्या है एससी-एसटी एक्ट संसोधन, जिसके विरोध में है भारत बंद

सरकार ने केसीआर के इस फैसले को मंजूरी देते हुए पार्टी और कैबिनेट को आगामी चुनावों तक कार्यवाहक सरकार के रूप में काम करने के निर्देश दिए हैं. इससे पहले केसीआर ने विधानसभा के पास गन पार्क में तेलंगाना शहीद मेमोरियल पर श्रद्धांजलि अर्पित की.  इसके बाद वे सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के मुख्यालय तेलंगाना भवन जाएंगे, जहां वह पार्टी के नेताओं और श्रमिकों को संबोधित करेंगे. 

टीचर्स डे पर जानिए जापान के स्कूल में बच्चों को कैसा दिया जाता है लंच

केसीआर ने यह भी घोषणा की कि वह 50 दिनों में 'प्रजा दीवाना सभा' ​​नामक लगभग 100 सार्वजनिक बैठकों को संबोधित करेंगे. ये रैलियां 7 सितम्बर को हुस्नाबाद विधानसभा क्षेत्र से शुरू होने वाली है.  टीआरएस के नेताओं ने कहा कि केसीआर दूसरी बार सत्ता संभालने के लिए राज्य के लोगों की आशीष मांगेगा. आपको बता दें कि वित्त मंत्री ई राजेंद्र ने कहा था कि मुख्यमंत्री ने हैदराबाद के बाहरी इलाके में आयोजित 'प्रगति निवेदन सभा' ​​की सफलता को देखने के बाद हुसनाबाद में सार्वजनिक बैठक आयोजित करने का फैसला किया था. 

खबरें और भी:-​

2990 करोड़ में बनी लौह पुरुष की विश्व की सबसे ऊंची इमारत, चीन दे रहा आखिरी रूप

समलैंगिकता पर आज होगा ऐतिहासिक फैसला

बुसान फिल्मोत्सव में मनोज बाजपेयी की इस फिल्म का होगा प्रीमियर

?