राष्ट्रपति मैक्रों को सितार, PM को मार्बल टेबल, जानें फ्रांस दौरे पर पीएम मोदी ने क्या-क्या उपहार दिए

राष्ट्रपति मैक्रों को सितार, PM को मार्बल टेबल, जानें फ्रांस दौरे पर पीएम मोदी ने क्या-क्या उपहार दिए
Share:

पेरिस: फ्रांस की 2 दिवसीय यात्रा पर पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों को चंदन की लकड़ी से बने संगीत वाद्ययंत्र सितार की एक प्रतिकृति तोहफे में दी है। अधिकारियों ने शुक्रवार को इस बारे में जानकारी दी है। इसके साथ ही पीएम मोदी ने राष्ट्रपति मैक्रों की पत्नी ब्रिगिट मैक्रों को चंदन की लकड़ी से बने एक डिब्बे में पोचमपल्ली रेशम इकत उपहार में दिया है।

अधिकारियों ने बताया है कि, राष्ट्रपति मैक्रों को तोहफे में दी गई सितार की प्रतिकृति में ज्ञान, संगीत, कला, वाणी, बुद्धि और विद्या की देवी मानी जाने वाली सरस्वती की तस्वीरें शामिल हैं। इस सितार पर विघ्नहर्ता भगवान गणेश की आकृति भी बनी हुई है। अधिकारियों ने जानकारी दी है कि राष्ट्रपति मैक्रों को तोहफे में दिया गया सितार शुद्ध चंदन से बना है। बता दें कि, चंदन की नक्काशी की कला दक्षिणी भारत में सदियों से प्रचलित एक उत्कृष्ट और प्राचीन शिल्प है। पीएम मोदी ने फ्रांस की पीएम एलिजाबेथ बोर्न को मार्बल इनले वर्क टेबल भेंट किया। ‘मार्बल इनले वर्क’ अर्ध-कीमती पत्थरों का इस्तेमाल करके संगमरमर पर बनाई गई आकर्षक कलाकृतियों में से एक है। यह संगमरमर राजस्थान के मकराना शहर में मिलता है।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने फ्रांस की संसद के प्रमुख येल ब्रॉन-पिवेट को हाथ से बुना हुआ ‘रेशम कश्मीरी कालीन’ उपहार में दिया। पीएम  मोदी ने फ्रेंच नेशनल असेंबली के अध्यक्ष येल ब्रॉन-पिवेट को हाथ से बुना हुआ ‘सिल्क कश्मीरी कालीन’ भेंट किया। कश्मीर के हाथ से बुने रेशम के कालीन अपनी कोमलता और शिल्प कौशल के लिए पूरे विश्व में प्रसिद्ध हैं। सिल्क कश्मीरी कालीन के रंग और इसकी जटिल गांठें इसे किसी भी अन्य कालीन से भिन्न बनाती हैं।

पीएम मोदी ने फ्रांस की प्रथम महिला ब्रिगिट मैक्रॉन को सैंडलवुड बॉक्स में पोचमपल्ली इकत भेंट किया। भारत के तेलंगाना के पोचमपल्ली शहर का पोचमपल्ली रेशम इकत कपड़ा, भारत की समृद्ध कपड़ा विरासत का एक मंत्रमुग्ध कर देने वाला सबूत है। अपने जटिल डिजाइनों और जीवंत रंगों के लिए विख्यात, पोचमपल्ली रेशम इकत साड़ी भारत की सुंदरता, शिल्प कौशल और सांस्कृतिक विरासत को समाहित करती है।

पीएम मोदी ने फ्रांसीसी सीनेट के प्रमुख जेरार्ड लार्चर को ‘चंदन की हाथ से बनी हाथी अंबावारी’ तोहफे में दी। सजावटी हाथी की मूर्ति शुद्ध चंदन से निर्मित है। सुगंधित चंदन से सावधानीपूर्वक बनाई गई ये उत्कृष्ट मूर्तियाँ, इन बेहतरीन प्राणियों की कृपा और महिमा को प्रदर्शित करती हैं। ये चंदन की हाथी की आकृतियाँ भारतीय संस्कृति में एक विशेष जगह रखती हैं, जो ज्ञान, शक्ति और सौभाग्य का प्रतीक हैं। खूबसूरती से उकेरी गई ये प्रतिमाएं प्रकृति, संस्कृति और कला के बीच सामंजस्य की याद दिलाती हैं।

'ये एक धर्म के रीती-रिवाज़ों को दूसरे पर थोपने की कोशिश...' मुस्लिम संगठनों के बाद अब चर्च भी UCC के विरोध में उतरा

'ये दोस्ती वैश्विक भलाई के लिए..', राष्ट्रपति मैक्रों के साथ स्टेट डिनर के दौरान बोले पीएम मोदी

'आज हिंदू बनी है, कल क्रिश्चियन बन सकती है...' सीमा हैदर की पाकिस्तानी सहेली का दावा, सुर्ख़ियों में है लव स्टोरी

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -