परिवर्तन कुंभ में विशेषज्ञों ने बताई अपनी सबसे बड़ी चिंता, इस दिन 'राजनाथ सिंह' भी होंगे शामिल

Feb 16 2020 03:53 PM
परिवर्तन कुंभ में विशेषज्ञों ने बताई अपनी सबसे बड़ी चिंता, इस दिन 'राजनाथ सिंह' भी होंगे शामिल

परिवर्तन कुंभ को रमाबाई मैदान पर आरएसएस के सहयोगी संगठन एकल अभियान द्वारा आयोजित किया जा रहा है. इस कुंभ में विशेषज्ञों की बड़ी चिंता का विषय शिक्षण संस्थान हैं. श्रीराम जन्म भूमि ट्रस्ट के न्यासी गोविंद देव गिरि और साध्वी ऋतंभरा समेत करीब डेढ़ लाख स्वराज सेनानी रविवार को परिवर्तन कुंभ में शामिल थे. तीन दिवसीय इस आयोजन में सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और 18 को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शिरकत करेंगे.

तेजस्वी यादव की बेरोजगारी हटाओ यात्रा को लेकर चौंकाने वाला खुलासा, इस तरह लगाया सरकार को चूना

रविवार को परिवर्तन कुंभ में एकत्र सेनानियों ने समाज, शहर-गांव, प्रदेश तथा देश में परिवर्तन लाने का संकल्प लिया. विशेषज्ञों के सामने सबसे बड़ी चिंता का विषय शिक्षण संस्थान हैं. साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि शिक्षा के नाम पर जो हो रहा है, वो अच्छा नहीं है. शिक्षण संस्थान राजनीति के बड़े अखाड़े बनते जा रहे हैं, देश की युवा पीढ़ी में जाति व धर्म का जहर घोला जा रहा है. भारत में आज कुछ लोग उनके साथ दिख रहे हैं जो भारत के टुकड़े टुकड़े करने को कह रहे हैं. श्रीराम जन्म भूमि ट्रस्ट के न्यासी गोविंद देव गिरि ने कहा कि यह देश अब हारेगा नहीं. इस देश के उत्थान की हुंकार इस सम्मेलन में सुनाई पड़ रही है। देश में वेद और गाय नहीं बचेंगे तो कुछ नहीं बचेंगे। उत्तर भारत में 51 वेद संस्थान बनना अच्छा है. उन्होंने कहा कि आज इंतजार खत्म हो गया है. अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का समय आ गया.

जनादेश के अपमान पर भड़के जेपी नड्डा, कहा-अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर की बनाकर रहेंगे...

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि एकल विद्यालय ने अपनी संख्या एक लाख कर दिया। हम हनुमान भक्त है, हम तो सवा लाख से कम नहीं है. हम लोग 19 फरवरी को छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती और पूज्य गुरु जी की जयंती पर हम अपना शुरू करने जा रहे हैं. सबका साथ, सबका विकास, और सबका विश्वास ही राम राज्य है. हम भिखारी देश नहीं हैं, पढ़े लिखे देश थे. 1818 से पूर्व अंग्रेजों ने सर्वे किया तो तो पाया कि यहाँ शत-प्रतिशत शिक्षा है. शिक्षा को लेकर शहर के लोग विकास करते रहे और गांव रोते रहे. भारत माता रोती रही. बिना बनवासियो के विकास की बात करना उचित नहीं. उन्होंने कहा कि मनुष्यों के मूल विश्वास को तोडऩा नहीं चाहिए. सबको साथ लेकर ही हम लोगों को आगे बढ़ते रहना चाहिए तब तक यह सारा समाज एक स्तरीय नहीं हो जाता.

जून तक तैयार हो जाएगी देश की पहली एयर डिफेंस कमान, तैयारियों में जुटे CDS बिपिन रावत

Ind Vs NZ: टेस्ट श्रृंखला शुरू होने से पहले मस्ती के मूड में दिखे विराट कोहली, शेयर की ऐसी तस्वीर

बंपर जीत से आप पार्टी के हौसले बुलंद, इन राज्यों के चुनावी रण में उतरने की तैयारी