शाहीन बाग़ में बढ़ा प्रदर्शन, शामिल हुए पंजाब से आए लोग

शाहीन बाग़ में बढ़ा प्रदर्शन, शामिल हुए पंजाब से आए लोग

नई दिल्ली: दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संसोधन कानून CAA और NRC के विरोध को  लेकर 15 दिसंबर से जारी धरना 31वें दिन में प्रवेश कर चुका है. जंहा बुधवार को बड़ी संख्या में लोग धरना प्रदर्शन में शामिल होने के लिए पहुंचे हैं. समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, शाहीन बाग इलाके में सड़क पर चल रहे प्रदर्शन में शामिल होने के लिए पंजाब से लोग पहुंचे, साथ ही भारतीय किसान यूनियन ने भी शाहीन बाग में पहुंचकर प्रदर्शनकारियों का हौसला बढ़ता ही जा रहा है.

हाई कोर्ट के फैसले के बाद शाहीन बाग में और बढ़ी भीड़: सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस बात का पता चला है कि सीएए व एनआरसी के विरोध में शाहीन बाग में रोड बंद कर चल रहे धरने पर हाई कोर्ट का फैसला आने के बाद यहां दिन भर अफवाहों का बाजार गर्म रहा. प्रदर्शनकारियों में एक तरफ पुलिसिया कार्रवाई का डर था. ये लोग यहां अपनी संख्या बढ़ाने में जुटे रहे. यहां बताया गया कि आधा घंटा के अंदर पुलिस यह मार्ग खाली करवाने के लिए आने वाली है. सोशल मीडिया से यह सूचना मिलते ही यहां प्रदर्शनकारियों की संख्या अचानक से बढ़ने लगी. वहीं यह भी कहा जा रहा है कि इसमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे. वहीं, एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि इससे पहले करीब 40-50 पुलिसकर्मी धरनास्थल से बैरिके¨डग हटाकर रोड खोलने पहुंचे थे. लेकिन लोगों की भीड़ देखकर उन्हें वापस जाना पड़ा.

रास्ता खुलने की अफवाह पर पहुंचे लोग: आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि कोर्ट का फैसला आने के बाद से आशंका थी कि अफवाहें फैलेंगी, इसलिए सोमवार को दिनभर यहां सुरक्षा-व्यवस्था बढ़ी दी गई थी. जंहा इस बात पर गौर फ़रमाया गया है कि सीआरपीएफ के जवान धरनास्थल से 50 मीटर की दूरी पर मुस्तैद थे. वहीं, एक बार तो आसपास के इलाकों में यह अफवाह भी फैल गई कि रोड खुल गया है. इससे नोएडा जाने वाले कई यात्री अपने वाहन लेकर उस रोड से निकलने के लिए पहुंच गए. जब उन्हें रोड बंद मिला तो वह मायूस होकर वहां से लौटने लगे.

शहडोल जिला अस्पताल में पांच नवजात की मौत, शिवराज चौहान ने सरकार पर उठाए सवाल

कमिश्नर के आने से पहले जलाई जा रही थीं SSP ऑफिस की फाइलें, उच्च स्तरीय जांच के आदेश जारी

एक ही दिन दो सगे भाइयों का क़त्ल, एक को मारी गोली तो दूसरे को घोंपा चाक़ू