सुपरहिट होने के बाद भी कैसे बंद हो गया शो शक्तिमान

1997 में लॉन्च हुए भारत के पहला सुपरहीरो शो शक्तिमान बच्चों का फेवरेट हुआ करता था. इसके साथ ही इन दिनों शक्तिमान लॉकडाउन की वजह से दोबारा टेलीकास्ट किया जा रहा है. शक्तिमान जब सालों पहले आता था तो बच्चों में इसका क्रेज देखते ही बनता था. लेकिन जब ये शो अचानक बंद किया गया तो लोग काफी निराश हुए. लोगों के मन में यही सवाल था कि क्यों इस हिट शो को ऑफएयर किया गया. वहीं एक इंटरव्यू में मुकेश खन्ना ने शक्तिमान के अचानक बंद किए जाने की असली वजहों का खुलासा किया है. आपकी जानकारी के लिए बता दें, मुकेश खन्ना इस शो में एक्टर होने के साथ साथ इसके प्रोड्यूसर भी थे. मुकेश खन्ना ने कहा- शो हिट जा रहा था. इस बीच मुश्किलें तब आने लगीं जब मुझे कहा गया क्यों मैं संडे का स्लॉट नहीं लेता. मैंने कहा- मुझे किसी ने दिया ही नहीं. मैं ले सकता हूं.

तभी से दिक्कत शुरू हुई क्योंकि तब नॉन प्राइम स्लॉट की फीस 7.50 लाख हो गई थी. 104 एपिसोड के बाद उन्होंने कहा कि वे फीस बढ़ाकर 10.05 लाख कर देंगे. पहले मैं सहमत हुआ लेकिन बाद में वे फीस बढ़ाते रहे.जब मैं 350 एपिसोड्स तक गया वे चाहते थे मैं और फीस बढ़ाऊ. आखिरकार मैंने ऐसा करने से मना कर दिया. तब मैं शक्तिमान को बिना पूरा किए छोड़कर चला गया था.मुझे कई लोगों ने शो बंद होने की शिकायत की. लेकिन हम कुछ नहीं कर सकते थे. आपकी जानकारी के लिए बता दें, शो 1997 में शुरू हुआ था और 2005 तक चला था. मुकेश खन्ना ने इसके सीक्वल की भी घोषणा कर दी है.शो को बनाने को लेकर किए संघर्ष को बताते हुए उन्होंने कहा- जब हम शक्तिमान बना रहे थे मेरे साथ एक को-पार्टनर भी था. उसने पैसा लगाया था. हमें बाद में एहसास हुआ कि जितना पैसा हम इस प्रोजेक्ट में लगा रहे हैं ये शो उतने में नहीं बनेगा. मुझे इस बीच 104 एपिसोड का कॉन्ट्रैक्ट मिल गया.

आपकी जानकारी के लिए बता दें की फिर मुझे पता चला कि एसोसिएट प्रोड्यूसर इसमें ज्यादा पैसे नहीं लगा सकता, इसलिए मैंने उसे पैसे लौटाए, फिर मैं ही शक्तिमान का इकलौता प्रोड्यूसर बना, सारा बोझ मुझ पर आया. परन्तु लोगों ने मेरी मदद की. एक समय ऐसा भी आया जब पैसों की कमी पड़ गई थी. वहीं तब स्टाफ 15-20 हजार इकट्ठा करता फिर हम शूट करते. बाद में मैं उनके पैसे लौटाता. हमारा ये शो सक्सेसफुल हुआ.हमें पहले नॉन प्राइम टाइम स्लॉट मिला था. इसके साथ ही फिर शो के सफल होने के बाद हमें प्राइम टाइम मिला. पहले जब शो प्राइम स्लॉट में नहीं था, तब दो स्लॉट की मुझे 3 लाख 80 हजार फीस मिली थी. शुरुआती 6 एपिसोड्स में हमने कमाना शुरू कर दिया था.

रामानंद की रामायण के ये सितारे कह गए अलविदा

अरुण गोविल की गैरमौजूदगी में यह एक्टर बनता था 'डुप्लीकेट राम'

पारस-माहिरा के खाना बांटने पर जय भानुशाली ने कही यह बात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -