सिर्फ संत रविदास का स्मरण ही नहीं, बल्कि उनके विचारों पर अमल भी करे भाजपा - मायावती

लखनऊ: संत रविदास जयन्ती के मौके पर देश को बधाई देते हुए बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्षा मायावती ने मंगलवार को कहा है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा संकीर्ण, जातिवादी व साम्प्रदायिक ईर्ष्या का व्यवहार करने की वजह से ही देश में आज अनेकों प्रकार की विषमतायें व विकृतियां पहले की तुलना में से काफी अधिक बढ़ गई हैं और समाज का तानाबाना लगातार बिखरता जा रहा है. मायावती ने कहा है कि संत रविदास ने अपना पूरा जीवन मानवता का संदेश देने में गुज़ार दिया और इस क्रम में विशेषकर जातिभेद के विरुद्ध आजीवन कड़ा संघर्ष करते रहे.

मिशन लोकसभा: कांग्रेस ने अपनाया भाजपा का हथकंडा, जनता की राय से बनाएगी घोषणा पत्र

संत रविदास जयन्ती पर मंगलवार को जारी किए गए अपने बयान में उन्होंने कहा है कि, आज के संकीर्ण व जातिवादी माहौल में उनके इंसानियत के संदेश की बहुत ही अधिक अहमियत है और मन को हर लिहाज़ से हकीकत में चंगा करके जीवन गुजारने की आवश्यकता है. विशेषकर सत्ताधारी पार्टी के लोगों को चाहिए कि वे सिर्फ उन्हें स्मरण करने की रस्म नहीं निभानी चाहिए, बल्कि इससे पहले अपने मन को संकीर्णता, जातिवाद व साप्रदायिकता आदि से चंगा करें क्योंकि छोटे मन से कोई भी बड़ा आदमी नहीं हो सकता.

भाजपा-शिवसेना के गठबंधन पर राणे का प्रहार, कहा दोनों को झेलना पड़ेगा नुकसान

मायावती ने कहा है कि विशेषकर सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा संकीर्ण, जातिवादी व साम्प्रदायिक ईर्ष्या का व्यवहार करने की वजह से ही देश में आज अनेकों प्रकार की विषमतायें व विकृतियाँ पहले की तुलना में काफी अधिक बढ़ गई हैं और समाज का तानाबाना लगातार बिखरता जा रहा है, जिससे देश की 130 करोड़ आवाम का दिन-प्रतिदिन का जीवन बहुत विषम और कष्टकारी होता जा रहा है.

खबरें और भी:- 

इमरान खान का छोटा मुँह बड़ी बात, कहा -अगर भारत ने हमला किया तो देंगे करारा जवाब

पुलवामा हमला: भारत के उग्र तेवर देख घबराया पाक, UN से कहा- मदद कीजिए

वाराणसी में बोले पीएम मोदी, कहा हमारी सरकार में बेईमानों के लिए जगह नहीं

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -