2.5 लाख लोगों को रेलवे ने पहुंचाया अपने घर, लॉकडाउन में मिली बड़ी सफलता

कोरोना संक्रमण के बीच रेलवे ने अभी तक 222 विशेष ट्रेनों का संचालन किया है जिससे देश के विभिन्न भागों में फंसे 2.5 लाख से ज्यादा लोगों को उनके ठिकानों तक पहुंचाया गया है। कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए लॉकडाउन लागू किए जाने के बाद देश के विभिन्न भागों में लोग फंस गए थे।संवाददाता सम्मेलन में गृह मंत्रालय की संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने कहा कि सरकारी प्रयासों से लोगों को लॉकडाउन में बहुत राहत मिली है। इसके तहत सरकार ने फंसे हुए प्रवासी कामगारों, छात्रों, तीर्थ यात्रियों और पर्यटकों को उनके निवास स्थानों तक पहुंचाने के लिए विशेष ट्रेनों का संचालन शुरू किया।

अमनमणि प्रकरण में अलग से जांच नहीं करवा रही है उत्तराखंड सरकार

आपकी जानकारी के ​लिए बता दे कि लॉकडाउन के कारण दिल्ली में फंसे मध्य प्रदेश के 984 प्रवासी मजदूरों को लेकर विशेष ट्रेन शुक्रवार सुबह छतरपुर पहुंची। छतरपुर जिले के 247 मजदूरों को उनके घरों में ही 14 दिनों तक क्वारंटाइन कर दिया गया है। अन्य श्रमिक प्रदेश के 25 जिलों के थे, जिन्हें बसों से रवाना कर दिया गया है।

कोरोना लॉकडाउन की मुश्किलों को ऐसे आसान बना देंगे

इसके अलावा महाराजा छत्रसाल रेलवे स्टेशन पर इन मजदूरों की जांच की गई। श्रमिकों की जांच के लिए 10 काउंटर बनाए गए थे। इसके बाद उन्हें भोजन के पैकेट देकर स्टेशन के बाहर पहुंचाया गया। जांच और आवश्यक जानकारी दर्ज करने के बाद इनको 34 बसों से इनको उनके जिलों और गांवों की ओर रवाना किया गया। किराया नहीं देना पड़ा मजदूरों ने बताया कि उनको किराया नहीं देना पड़ा।

आखिर क्या है वंदे भारत मिशन ? जिसके तहत घर वापसी करेंगे

भारतीयVideo: ग़ाज़ियाबाद में ATM मशीन के अंदर घुस गया सांप, मचा हड़कंप

Fact Check: क्या गूगल ने PoK को भारत में मिलाया, मैप से LoC भी गायब ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -