पूर्व मंत्री चौधरी लाल सिंह के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी, जाने पूरा मामला

पूर्व मंत्री चौधरी लाल सिंह के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी, जाने पूरा मामला

जम्मू: जम्मू नगर निगम दफ्तर में पिछले दिनों छापे के दौरान बरामद किए गए रिकॉर्ड की पड़ताल के पश्चात् मंगलवार को सीबीआई ने कई अपराधियों के विरुद्ध केस दायर किया है। इसमें आरबी एजुकेशन ट्रस्ट, ट्रस्ट के अध्यक्ष, कठुआ के पूर्व डीसी, पूर्व तहसीलदार, पूर्व नायब तहसीलदार भी सम्मिलित हैं। वही इस केस में अब सीबीआई कुल 9 स्थानों पर छापे मारकर अपराधियों की खोजबीन कर रही है।

वही आरबी शिक्षण संस्थान तथा ट्रस्ट के प्रेसिडेंट के आवास सहित जम्मू के तीन और कठुआ के छह स्थानों पर छापेमारी चल रही है।ध्यान हो कि चौधरी लाल सिंह द्वारा चलाए जा रहे ट्रस्ट द्वारा जमीन कब्जाने तथा भ्रष्टाचार के दोषों की इन्वेस्टिगेशन के लिए सीबीआई ने 25 जून को एक आरंभिक पड़ताल दायर की थी। लाल सिंह ने कठुआ के रसाना की आठ साल की मासूम के साथ हुए दुष्कर्म तथा हत्या के पश्चात् बीजेपी छोड़ दी थी।

वही वन भूमि के विक्रय तथा क्रय की मंजूरी देने में कठुआ शहर के राजस्व तथा वन अफसरों द्वारा अवैध संतुष्टि तथा अवैध विचार के आरोपों की इन्वेस्टिगेशन के लिए कठुआ के आर बी एजुकेशन ट्रस्ट तथा अज्ञात लोक सेवकों के विरुद्ध पीई दायर की गई है। पीई के मुताबिक, यह आरोप लगाया गया है कि इस प्रकार के झूठे सर्टिफिकेट जो कि जेके एग्रेरियन रिफॉर्म्स एक्ट के तहत छूट वाली केटेगरी में आते हैं, शैक्षिक ट्रस्ट द्वारा इसकी क्रय में उपयोग किए गए थे। वही आरंभिक पड़ताल में कहा गया है कि इस प्रकार के कथित गैरकानूनी कामों का एक लाभार्थी ट्रस्ट, जम्मू और कश्मीर कृषि सुधार अधिनियम, 1976 के तहत तय सीमा के वृहद उल्लंघन में भूमि के बड़े भाग के कब्जे में है। वही अब इस मामले पर जांच लगातार जारी है। 

मेडिकल कॉलेज के उद्घाटन समारोह में केरल के मुख्यमंत्री ने कही ये बात

विपक्षियों ने दिया स्पीकर के चैंबर के बाहर धरना, फिर सदन से किया वाकआउट

मुख्यमंत्री विजयन का बड़ा बयान, कहा- ''निश्चित' लोग जानबूझकर अफवाह फैला रहे हैं''