कुम्भ मेले को लेकर हरीश रावत ने राज्य सरकार पर साधा निशाना, कही ये बात

By Bhavesh Bakshi
Jan 28 2021 05:04 PM
कुम्भ मेले को लेकर हरीश रावत ने राज्य सरकार पर साधा निशाना, कही ये बात

शिमला: कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि देश-दुनिया में मशहूर कुंभ की अवधि घटाकर राज्य सरकार ने महापाप किया है। जिसका खामियाजा इन फैसलों को लेने वालों को भुगतना पड़ेगा। हरीश रावत ने हरकी पैड़ी पर मां गंगा में स्नान कर पूजा-अर्चना की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कुंभ आयोजन को लेकर कई गलतियां की गई हैं। रावत ने कहा कि उन्होंने सरकार की इन गलतियों को मां गंगा को समर्पित किया है। साथ ही कई अखाड़ों में पहुंचकर संतों के सामने भी इन गलतियों को रखा है।

रावत ने कहा कि राज्य सरकार ने कोरोना की आड़ में कुंभ काल को 4 महीने से घटाकर दो महीने करने का महापाप किया है, जबकि सरकार को कम से कम स्नान पर्वों को कुंभ से बाहर नहीं करना चाहिए था। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार नहीं चाहती है कि आस्था का कुंभ दिव्य और भव्य हो। कोरोना को लेकर सारे दिशानिर्देश सरकार को केवल हरिद्वार के कुंभ में ही नजर आ रही हैं, जबकि देश के अन्य राज्यों में होने वाले आयोजन हो या फिर गणतंत्र दिवस की परेड या फिर किसान आंदोलन, कहीं पर भी सरकार का कोई बस नहीं चल रहा है।

सरकार चाहती है कि किसी भी प्रकार कुंभ आयोजन को छोटा कर पैसों की बंदरबांट की जा सके। हरीश रावत ने कहा कि सरकार दावा कर रही है कि हरिद्वार का कुंभ ऐतिहासिक और भव्य होगा, किन्तु यहां पर पुलों के नीचे देवी-देवताओं की तस्वीरें बनाकर अपमानित किया जा रहा है। हाईवे को केंद्र द्वारा बनाया जा रहा है। लेकिन शहर की सूरत सुधारने का काम राज्य सरकार का था।

कृषि कानून के खिलाफ ममता सरकार ने पेश किया प्रस्ताव, कहा- कानून वापस ले सरकार या सत्ता छोड़े

बजट सत्र से पहले ओम बिरला ने लिया संसद का जायज़ा, अफसरों को दिए निर्देश

पाकिस्तान न्यायपालिका ने डैनियल पर्ल की हत्या में प्रमुख संदिग्ध को रिहा करने का दिया आदेश