थाने में गिरफ़्तारी देने पहुंचे दिग्विजय, मचा बवाल

थाने में गिरफ़्तारी देने पहुंचे दिग्विजय, मचा बवाल

भोपाल: कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आज अपने कार्यकर्ताओं के साथ राजधानी भोपाल की सड़कों पर मार्च निकला और अपनी गिरफ़्तारी देने टीटी नगर पुलिस स्टेशन पहुँच गए. दिग्विजय सिंह ने सरेआम शिवराज सिंह को चुनौती देते हुए कहा कि "शिवराज अगर मुझे देशद्रोही मानते हैं तो मेरी गिरफ़्तारी करवाएं". इसके बाद जब पुलिस ने सिंह को लिखकर दिया कि उनके खिलाफ कोई देशद्रोह का आरोप नहीं है, जिसके बाद दिग्विजय सिंह शांत हुए.  

गले लगने को कांग्रेस ने बनाया मुद्दा

गौरतलब है कि शिवराज सिंह ने सतना जिले में निकाली गई अपनी आशीर्वाद यात्रा के समय दिग्विजय सिंह को देशद्रोही करार दिया था. उन्होंने अपने भाषण के दौरान कहा था कि "पुलिस अगर किसी आतंकवादी को मार दे तो दिग्विजय उस आतंकी के घर जाकर शोक में शामिल होते हैं, उन्हें जी कहकर सम्बोधित करते हैं, उनके ये कदम मुझे देशद्रोही जैसे लगते हैं ". 

राम मंदिर : 'शिव' सेना को राम का सहारा, चलो अयोध्या का दिया नारा

शिवराज के इस बयान पर दिग्विजय भड़क गए और उन्होंने शिवराज सिंह को इसके लिए एक खत भी लिख दिया. 21 जुलाई को लिखे गए इस पत्र में दिग्विजय ने लिखा कि " माननीय मुख्यमंत्री मुझे देशद्रोही मानते हैं, लेकिन मेरी नज़र में मैंने ऐसा कोई काम नहीं किया, जो कि देशद्रोह की श्रेणी में आता हो, फिर भी अगर मुख्यमंत्री को लगता है, तो वे मेरी गिरफ़्तारी करवा सकते है." उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह की ऐसी बयानबाजी की वजह यह है कि वो और उनका परिवार व्यापम जैसे कई घोटालों में पूरी तरह से शामिल है. अब आगामी चुनाव में प्रदेश की जनता शिवराज सिंह को उखाड़ फेंकेगी. 

खबरें और भी:-

जन्मदिन विशेष : 58 के हुए 'शिव' सैनिक उद्धव ठाकरे

"अगर श्री राम भी धरती पर आ जायें तो भी रेप होने से रोक नहीं सकते"- बीजेपी विधायक

ब्रिक्स सम्मेलन में शामिल होंगे पीएम मोदी, जिनपिंग से भी मिलेंगे

 

?