मकर संक्रांति पर वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ खुले आदिबदरी नाथ मंदिर के कपाट

Jan 14 2019 05:00 PM
मकर संक्रांति पर वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ खुले आदिबदरी नाथ मंदिर के कपाट

देहरादून : साल से सबसे पहले त्यौहार मकर संक्रांति की ब्रह्मबेला पर 4.30 बजे वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ आदिबदरी नाथ भगवान के कपाट खोल दिए गए। मंदिर के पुजारी ने बताया कि पौष माह में पौराणिक परंपराओं और मान्यताओं के तहत मंदिर के कपाट एक माह के लिए श्रद्धालुओं के दर्शनों के लिए बंद कर दिए जाते हैं।

अब इस राज्य में भी लगेगा प्लास्टिक बैग पर बैन

आज से शुरू हुए दर्शन 

जानकारी के लिए बता दें मान्यताओं के अनुसार इस एक माह में मंदिर में देव पूजाएं आयोजित होती हैं, और मकर संक्रांति को भगवान आदिबदरीनाथ के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनों के लिए विधि-विधान से खोल दिए जाते हैं। मंदिर समिति के अध्यक्ष और महा सचिव ने बताया कि 14 मंदिर समूह वाले पौराणिक आदिबदरी नाथ भगवान के मंदिर को अपनी ओर से लाए गए गेंदे के फूलों से सजाया गया।

यूपी के बाद अब मध्यप्रदेश में बना, गायों को लेकर यह नियम

सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार कपाट खुलने पर मंदिर प्रांगण में श्री गणेश महा पुराण और एक सप्ताह का महाभिषेक समारोह आयोजित किया जाएगा। बता दें पौष माह में पौराणिक परंपराओं और मान्यताओं के तहत मंदिर के कपाट एक माह के लिए श्रद्धालुओं के दर्शनों के लिए बंद कर दिए जाते हैं।

Flipkart का 'मकर संक्रांति' धमाका, 429 रु में फ़ोन और टीवी-फ्रीज पर 65 फीसदी छूट

फ़ोन की कीमत 16,000 रु, साथ में 3000 रु की यह खास चीज बिलकुल मुफ्त

ये है दुनिया का सबसे कम आबादी वाला देश, जहां रहता है सिर्फ एक व्यक्ति