गैस्ट्रिक ग्लैंड में बढ़ रही एसिड की मात्रा ऐसे होगी कम

गैस्ट्रिक ग्लैंड में बढ़ रही एसिड की मात्रा ऐसे होगी कम

हम आपको बता दें पेट के गैस्ट्रिक ग्लैंड में एसिड के ज्यादा मात्रा में बन जाने के कारण पेट में एसिडिटी की समस्या होती है। हम सभी को कभी न कभी इस समस्या से दो-चार होना पड़ता है। इस समस्या से उबरने के तमाम विकल्प मौजूद हैं। पेट में भोजन को पचाने के लिए एसिड बनता रहता है जो भोजन को पचाने में सहायता करता है। यही एसिड जब पेट में ज्यादा मात्रा में बनने लगे तभी एसिडिटी होती है, जिससे पेट में जलन होती है और कभी-कभी दर्द भी शुरु हो जाता है।

कुछ इस तरह बढ़ा सकते हैं अपना रनिंग स्टैमिना, जानें दौड़ने के सही तरीके

इस तरह हो सकता है फायदा 

आपको बता दें तले-भुने भोजन की वजह से, अत्यधिक पेय पदार्थों के सेवन से, बहुत ज्यादा तीखा खाना खाने की वजह से एसिडिटी की समस्या आप पर हमला कर सकती है। इसके अलावा ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर समय पर न करना भी एसिडिटी होने की बड़ी वजह है। इस समस्या से निजात पाने के लिए बाजार में कई दवाइयां मिलती हैं लेकिन घरेलू औषधियों में एक औषधि ऐसी है जो इस बीमारी को जड़ से समाप्त करने में आपकी मदद कर सकती है।

पेट की चर्बी कम करेगा पार्श्वकोणासन, जानें क्या हैं लाभ

और भी है कई फायदे 

इसी के साथ अजवाइन में प्रोटीन, फैट, मिनरल, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट भारी मात्रा में पाए जाते हैं। इसमें कैल्सियम, थायमीन, राइबोफ्लेविन, फास्फोरस, आयरन और नियासिन जैसे आवश्यक तत्व भी होते हैं। इसके अलावा इसमें बायो केमिकल कंपाउंड्स जैसे थायमोल, पैरासायमीन, पायनीन और टेरापायनीन की भी कुछ मात्रा होती है। काला नमक भी कई महत्वपूर्ण औषधीय तत्वों से परिपूर्ण होता है.

महाराष्‍ट्र के गढ़चिरौली में नक्सलियों की धरपकड़ का अभियान शुरू

नींबू से दूर होगी चेहरे की जिद्दी छइयां, अपनाएं ये तरीका

इस कारण आप भी हो सकते है हाई ब्लड प्रेशर के शिकार