क्या फिर अमेठी से चुनाव लड़ेंगे राहुल ? 2019 में स्मृति ईरानी ने दी थी करारी शिकस्त

जयपुर: राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और सूबे के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच सत्ता की खींचतान काफी समय से चली आ रही है। इस बीच कांग्रेस के लोकसभा सांसद राहुल गांधी ने आज यानी सोमवार (28 नवंबर) को कहा है कि दोनों ही नेता पार्टी के लिए संपत्ति हैं। बता दें कि राहुल इन दिनों भारत जोड़ो यात्रा पर निकले हुए हैं, जो अभी मध्य प्रदेश के इंदौर में है। इंदौर में ही एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए, राहुल गांधी ने अमेठी से चुनाव लड़ने पर भी अपनी राय रखी।
 
रिपोर्ट के मुताबिक, राहुल गांधी अमेठी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे या नहीं ? इसका फैसला एक या डेढ़ साल बाद लिया जाएगा। ऐसा खुद राहुल गांधी ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा है। कांग्रेस नेता ने कहा कि फिलहाल मेरा पूरा फोकस भारत जोड़ो यात्रा पर है। पत्रकारों ने जब राहुल से यह पूछा कि यदि मौका मिला तो क्या वह दोबारा अमेठी से चुनाव लड़ना चाहेंगे, इस पर राहुल गांधी ने कहा कि, 'मैं मीडिया को कोई हेडलाइन नहीं देना चाहता, क्योंकि अभी मेरा ध्यान केवल भारत जोड़ो यात्रा पर है।' उन्होंने कहा, 'आपके सवाल का जवाब एक साल या डेढ़ साल बाद आएगा।'

बता दें कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी को उनके परिवार के गढ़ अमेठी में करारी शिकस्त दी थी। शायद राहुल जानते थे कि वो अमेठी से हार जाएंगे, इसलिए 2019 में ही राहुल एक और सीट यानी, केरल के वायनाड से भी चुनाव लड़े थे और वहां से जीतकर ही मौजूदा सांसद हैं।

शिवपाल की सुरक्षा घटाए जाने से भड़की प्रसपा, भाजपा पर साधा निशाना

कर्नाटक में लागू हो सकता है गुजरात फार्मूला, दिल्ली आकर नड्डा से मिलेंगे सीएम बोम्मई

गहलोत-पायलट में कुर्सी को लेकर घमासान जारी, सियासी जंग पर पहली बार बोले राहुल

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -