गोल्ड मेडल जीतने वाले इकलौते भारतीय खिलाड़ी, गूंगा पहलवान के नाम से है मशहूर

Apr 01 2020 01:12 AM
गोल्ड मेडल जीतने वाले इकलौते भारतीय खिलाड़ी, गूंगा पहलवान के नाम से है मशहूर

आज यानी 1 अप्रैल को गूंगा पहलवान के नाम से मशहूर वीरेन्द्र सिंह का जन्मदिन है. कई मुकाबलों में इस गूंगे पहलावन ने देश का नाम रोशन किया है. वीरेन्द्र सिंह इकलौते भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने डेफलंपिक्स (मूक-बधिर लोगों के ओलंपिक) में गोल्ड मेडल जीता. 2005 व 2013 के डेफलंपिक्स में स्वर्ण पदक के साथ वे अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भी 5 मेडल जीत चुके हैं. 

2000 लोगों की सहायता करने के लिए आगे आएं यह खिलाड़ी 

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि वे इकलौते मूक-बधिर पहलवान हैं जो सामान्य पहलवानों से कुश्ती लड़ते हैं व जीतते भी हैं. 10 साल की उम्र से पहलवानी कर रहे वीरेंद्र की ट्रेनिंग मशहूर पहलवान सुशील कुमार के साथ हुई है. उनका लक्ष्य 2016 के रियो ओलंपिक में खेलना है, लेकिन बोल और सुन न पाने के कारण फेडरेशन उन्हें इजाजत नहीं दे रहा. इसके लिए उन्होंने खेल मंत्रालय को चिट्ठी लिखी है.

कोरोना के डर से इस खिलाड़ी ने लिया संन्यास का फैसला

इस तरह रखा पहलवानी में कदम 

बचपन में वीरेंद्र अपने घर के आंगन में बैठे हुए थे जब बाहर से आते हुए उनके रिश्तेदार ने देखा कि उन्हें पैर में दाद हुआ है. उसी का इलाज कराने वो उन्हें दिल्ली ले आए जहां से उनकी कुश्ती की शुरुआत हुई. हालांकि, वीरेंद्र बताते हैं कि उन्हें पहलवानी का शौक घर के पास वाले अखाड़े से लगा. इसी अखाड़े में उनके पिता अजित सिंह भी पहलवानी करते थे.

लॉकडाउन के दौरान घुड़सवारी करते नज़र आए रविंद्र जडेजा, शेयर किया Video

कोरोना संकट में मदद के लिए आगे आए क्रिकेटर्स, रोहित शर्मा और मिताली राज ने दिया आर्थिक सहयोग

अगले साल शुरू होंगे टोक्यो ओलंपिक