आपके बच्चे में भी है अंगूठा चूसने की आदत तो इस तरह छुड़ाएं

बच्चों में अक्सर अंगूठा चूसने की आदत अक्सर देखी जाती है। यह आदत कहीं ना कहीं से बच्चों में आ जाती है। जी हाँ और यह आमतौर पर बचपन में शुरू होती है। हालाँकि इसके कई साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं। जी दरअसल बच्चे आमतौर पर अपना अंगूठा चूसते हैं क्योंकि उनमें प्राकृतिक जड़ता और चूसने वाली सजगता होती है। इसकी वजह से बच्चे अपना अंगूठा/उंगलियां अपने मुंह में डाल लेते हैं। जी दरअसल यह भी माना जाता है कि अंगूठा चूसने से शिशु सुरक्षित महसूस करता है। हालांकि, आप अपने बच्चे की इस आदत से छुटकारा पा सकते हैं। कैसे वह आज हम आपको बताने जा रहे हैं।

कोविड बूस्टर वैक्सीन की वजह से बढ़ रहे हैं हार्ट अटैक के केस? जानिए क्या है सच

समय सीमित करें- अपने बच्चे की अंगूठा चूसने की आदत को बेडरूम तक या सोने से पहले सीमित करने से शुरू करें। जी हाँ और इसके अलावा उन्हें समझाएं कि अंगूठा चूसना अच्छी आदत नहीं है। 


जर्म्स के बारे में बताएं- आप अपने बच्चे को उसके हाथों पर लगे जर्म्स के बारे में बताएंष उन्हें समझाने की कोशिश करें। उसे बताए कि अंगूठा चूसने से एक्टिव बैक्टीरिया फैल सकते हैं और बीमारियों को ट्रिगर कर सकते हैं। ऐसे में कई बार डर से कुछ बच्चे अंगूठा चूसने की आदत छोड़ सकते हैं।

वजन घटाने के लिए सबसे बेस्ट है कद्दू के बीज, इस तरह करें सेवन

देखें वे कब ऐसा करते हैं- बच्चे सोने के दौरान या टेलीविजन देखते समय अपने अंगूठे को चूसते हैं? आप अपने बच्चे के अंगूठा चूसने के समय को देखें। जी हाँ और अगर यह टीवी देखते समय है, तो इसे कुछ मिनटों के लिए बंद कर दें।  

सरहाना करें- अपने बच्चे के मुंह में अंगूठा न होने पर हर बार उसकी प्रशंसा करें या उसे इनाम दें। जी हाँ क्योंकि ऐसा करने से बच्चे इस आदत को छोड़ सकते हैं।

मेंटल हेल्थ को लेकर करण जौहर ने कह डाली ऐसी बात

सेलेब्स के बीच मशहूर है ब्लैक वाटर, जानिए क्या है इसके फायदे

इस कारण भी आता है हार्ट अटैक, ये लक्षण दिखें तो हो जाएं सावधान वरना...

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -