हेमंत सरकार के आदेश से झारखंड में मचा हड़कंप, एक साथ 3700 घरों में की छापेमारी

रांची: झारखंड में बुधवार को बिजली चोरी के खिलाफ सरकार के आदेश से प्रदेशभर में एक साथ छापेमारी अभियान चलाया गया। इस के चलते 3731 घर, मकान तथा व्‍यावसायिक परिसरों में जमकर छापेमारी की गई। इस क्रम में 882 जगहों पर बिजली चाेरी किए जाने के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर 149.92 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। 

वही राज्यभर में चले छापेमारी अभियान में रांची में 63, गुमला में 21, जमशेदपुर में 60, चाईबासा में 39, धनबाद में 30, चास में 41, डालटेनगंज में 159, गढ़वा में 23, दुमका में 86, साहिबगंज में 67, गिरिडीह में 46, देवघर में 102, हजारीबाग में 76, रामगढ़ में 35 व कोडरमा में 34 व्यक्तियों पर बिजली चोरी करने के इल्जाम में प्राथमिकी दर्ज कर जुर्माना लगाया गया है।

इसी के साथ प्रदेश की सरकार ने विश्वास दिलाया है कि पतरातू विद्युत उत्पादन निगम तथा नार्थ कर्णपुरा पावर प्रोजेक्ट से इस साल अक्टूबर महीने से बिजली का आरंभिक उत्पादन आरम्भ हो जाएगा। अक्टूबर, 2023 तक दोनों ऊर्जा उत्पादन संयंत्रों से पूरी वाणिज्यिक क्षमता के साथ उत्पादन होगा। पीएम नरेन्द्र मोदी संग वीडियो कांफ्रेंसिंग में प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने यह खबर दी। उन्होंने दोनों निर्माणाधीन ऊर्जा उत्पादक संयंत्रों के कार्य प्रगति की खबर दी। इस के चलते केंद्रीय ऊर्जा सचिव की उपस्थिति में नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन (एनटीपीसी) के अफसर भी मौजूद थे। NTPC के अफसरों ने भी दोनों प्रोजेक्टों की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया।

जामा मस्जिद को लेकर सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने दिया बड़ा बयान, बोली- 'हर हिंदू को आगे आना चाहिए और...'

'भारत जोड़ो‌' की जगह निकाले 'कांग्रेस जोड़ो यात्रा...', राहुल गांधी को नरोत्तम मिश्रा ने दी सलाह

कपिल सिब्बल के जाने से डरी कांग्रेस, कोई और छोड़कर न जाए इसलिए बनाया ये प्लान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -