कपिल सिब्बल के जाने से डरी कांग्रेस, कोई और छोड़कर न जाए इसलिए बनाया ये प्लान

नई दिल्ली: कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे कपिल सिब्बल ने पार्टी छोड़ सपा के समर्थन से राज्यसभा जाने का फैसला कर लिया है। बुधवार को ही उन्होंने लखनऊ पहुंचकर अपना नामांकन भी दाखिल कर दिया था। इस घटनाक्रम पर भले ही कांग्रेस ने खुलकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है, मगर अंदर ही अंदर पार्टी में डर का माहौल साफ़ नज़र आ रहा है। अब पार्टी महाराष्ट्र से मुकुल वासनिक को उच्च सदन में भेजने की तैयारी कर रही है, जो कांग्रेस के बागी गुट G-23 का हिस्सा रहे हैं। 

महाराष्ट्र से असंतुष्टों के समूह G-23 में दो ही नेता शामिल थे, पृथ्वीराज चव्हाण और मुकुल वासनिक। मगर कांग्रेस मुकुल वासनिक को राज्यसभा की रिक्त सीट पर भेजने को लेकर विचार कर रही है। बताया जा रहा है कि वह कपिल सिब्बल के जाने से भयभीत है। अब वह दूसरे बड़े नेताओं को खोना नहीं चाहती। उल्लेखनीय है कि G-23 नेताओं की तरफ से अगस्त 2020 में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा गया था, जिसमें संगठन में बड़े बदलावों की मांग की गई थी। 

लोकसभा चुनाव और राज्यों में लगातार शिकस्त के बाद यह पत्र लिखा गया था। इस पत्र को लिखने वाले नेताओं में भूपिंदर सिंह हुड्डा, कपिल सिब्बल, गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, मुकुल वासनिक, शशि थरूर, मनीष तिवारी, पृथ्वीराज चव्हाण सहित कई वरिष्ठ नेता शामिल थे। कांग्रेस के एक सीनियर नेता ने कहा कि 10 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए मुकुल वासनिक पार्टी के उम्मीदवार हो सकते हैं।

शिवराज सरकार पर गोविंद सिंह का हमला, बोले- 'भाजपा कार्यकर्ता उड़ाते हैं संविधान की धज्जियां...'

लालू के पटना आते ही मची सियासी हलचल, भाजपा के भी फीके पड़े तेवर

इस राज्य में अब जनता चुनेगी महापौर, सरकार ने राजभवन भेजा नया प्रस्ताव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -