साध्वी प्रज्ञा के समर्थन में उतरे शिवराज, कांग्रेस पर हुए नाराज़

साध्वी प्रज्ञा के समर्थन में उतरे शिवराज, कांग्रेस पर हुए नाराज़

भोपाल: 2019 लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मीडिया से बातचीत की है और बेबाकी से अपनी राय रखी है. साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिए गए अपमानजनक बयान से भाजपा ने भले ही किनारा कर लिया हो, लेकिन साक्षात्कार के दौरान शिवराज सिंह चौहान खुलकर उनका बचाव करते हुए नज़र आए हैं.

मीडिया से बातचीत में शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, 'भारत की एक ऐसी पुत्री जो संन्यासी है, जिन्होंने एक उद्देश्य के लिए अपने जीवन को समर्पित कर दिया है उन्हें बिना किसी अपराध के, कानून का गलत इस्तेमाल करके आप जेलों में रखते हैं. अत्याचार और अन्याय उनके ऊपर किया जाता है. कांग्रेस ने, यूपीए की सरकार ने हिंदुत्व को बदनाम करने का भरपूर प्रयास किया. षड्यंत्र रचा और वो षड्यंत्र बेनकाब हो गया. अब साध्वी के चुनाव लड़ने पर ही आपत्ति कैसे जता सकते हैं.'

खुद के चुनाव न लड़ने के सवाल पर शिवराज ने कहा कि, 'जब मध्य प्रदेश में भाजपा की सरकार नहीं है, उस स्थिति में मैं कार्यकर्ताओं को संघर्ष के लिए अकेले नहीं छोड़ सकता हूँ. जब तक सरकार थी तब तक मैं ठाट से सीएम पद पर रहा, किन्तु अब सरकार नहीं है तो भाजपा कार्यकर्ताओं को छोड़कर दिल्ली नहीं जा सकता हूँ.' 

खबरें और भी:-

बम ब्लास्ट: पीएम मोदी ने श्रीलंका के पीएम और राष्ट्रपति से की चर्चा, कहा- हरसंभव मदद देने को तैयार भारत

इस बार देश में किसी भी दल को बहुमत मिलने के आसार नहीं : कमलनाथ

बलिया में बोले राजभर- भाजपा बुलाएगी तो भी नहीं जाएंगे