पाकिस्तान में चल रहा है आतंकियों का प्रशिक्षण, पहले बनाते हैं घोड़ा

नई दिल्ली : अभी तक तो पाकिस्तान का कहना है कि भारत उरी में सेना मुख्यालय पर हुए हमले को लेकर पाकिस्तान पर बेवजह आरोप लगा रहा है जबकि भारत में होने वाले हमले में पाकिस्तान का हाथ होने के सबूत भारत के पास नहीं है लेकिन अब तो सुरक्षा बलों ने सबूत भी पकड़ लिया है और पाकिस्तान में प्रशिक्षित आतंकवादी को भी। इस आतंकी ने माना है कि उसे पाकिस्तान के मनशेरा में ट्रेनिंग दी गई थी। उसे पहले घोड़ा बनाया गया फिर शेर। दरअसल भारतीय सुरक्षा बलों ने अखनूर सेक्टर से एक आतंकी अब्दुल कयूम को पकड़ा है।

इस आतंकी ने बताया कि उसे हथियारों का प्रशिक्षण पाकिस्तान में दिया गया। दरअसल वहां पर उसका नाम भी आंशिकतौर पर बदल दिया गया और फिर उसे मनशेरा के पास कराकरम होटल के पीछे स्थित अबू हरारा मरकज ले जाया गया। यहां से सेना के वाहन में उसे कुछ और लोगों के साथ पहाड़ियों पर ले जाया गया। यहां पर उसे अबू बकर मरकज नाम दिया गया। उसने कहा कि ट्रेनिंग देने वाले कश्मीर की बातें करते हैं।

उनका कहना है कि कश्मीर में लोगों पर अत्याचार हो रहे हैं। वे इस आतंकी को कुरान की आयत पढ़ाते थे। उसने कहा कि यहां पर एलमजी आदि हथियारों का प्रशिक्षण दिया गया। गौरतलब है कि यह आतंकी आतंकी हाफिज सईद का बाॅडी गार्ड भी रहा है। इस आतंकी को अखनूर सेक्टर में तार फैंसिंग पार करते समय पकड़ा गया। दरअसल यह आतंकी तारों में उलझ गया और सायरन बज गया। इसके बाद इस आतंकी को सीमा सुरक्षा बल ने पकड़ लिया हालांकि अन्य 4 आतंकी भाग निकले। अब्दुल कयूम ने इंफर्मेशन टेक्नोलाॅजी में पढ़ाई की है और यह अंग्रेजी भी बहुत अच्छी जानता है।

दुश्मनों के खिलाफ तैयार है भारतीय सेना

नवाज शरीफ ने उरी हमले के लिए कश्मीर को बताया जिम्मेदार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -