दोबारा "परीक्षा का बहिष्कार" करें छात्र- राज ठाकरे

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के प्रश्न-पत्र लीक का मामला अब पूरी तरह सियासी रंग में डूबता नजर आ रहा है. इस मामले पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने भी अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी है. ठाकरे ने शुक्रवार को विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों से अपील की कि वह सीबीएसई के लीक पेपरों को सरकार द्वारा दोबारा कराये जाने के फैसले का पुरजोर विरोध करें. ठाकरे ने "परीक्षा का बहिष्कार" करने की अपील की है. बच्चे व उनके पैरेंट्स को संबांधित करते हुए ठाकरे ने कहा कि सर्कार अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा पायी और अब बच्चों पर दोबारा परीक्षा का बोझ बढ़ा रही है.

उन्होंने कहा, "सरकार प्रश्न-पत्रों की सुरक्षा करने में असमर्थ है और फिर भी विद्यार्थियों को पुन: परीक्षा की पीड़ा को सहन करना पड़ेगा. जब उनकी गलती नहीं तो उन्हें क्यों इस त्रासदी से गुजरना चाहिए" ठाकरे ने आगे कहा "मैं महाराष्ट्र और बाकी देश के सभी सीबीएसई विद्यार्थियों के अभिभावकों से अपील करता हूं कि किसी भी परिस्थिति में आप अपने बच्चों को फिर से परीक्षाओं में बैठने की अनुमति न दें. यदि आप अभी झुककर मान जाते हैं तो आगे आपको और झुकाया जाएगा." ठाकरे ने इस मुद्दे पर "एकजुट होकर कड़ा रुख" अपनाने की बात भी कही.

उन्होंने कहा, "अपनी गलतियों के लिए विद्यार्थियों को पीड़ित करने से पहले सरकार को अपने तंत्र को सही करने का संदेश देना चाहिए. अगर माता-पिता अभी झुक जाते हैं और विद्यार्थियों को फिर से परीक्षा देनी होती है तो ऐसी गलतियां भिविष्य में भी होंगी." गौरतलब है कि मनसे प्रमुख का ये बयान सीबीएसई की कक्षा 12वीं के अर्थशास्त्र और कक्षा 10वीं के गणित के पेपर लीक होने के बाद सामने आई है.

 

Cbse paper leak: आंदोलन के बीच परीक्षा तारीखों की घोषणा

सीबीएसई की दुबारा परीक्षा की नई तारीखों का ऐलान आज सम्भव

35 हजार में ख़रीदे पेपर को दूसरों को बेचकर राशि वसूली

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -