बुरे फंसे पटना वाले मशहूर खान सर, छात्रों के विरोध प्रदर्शन को लेकर कई संस्थाओं पर FIR

आरआरबी एनटीपीसी रिजल्ट (RRB NTPC Result) को लेकर युवाओं का विरोध-प्रदर्शन लगातार बढ़ता जा रहा है। आप सभी को बता दें कि बिहार में पिछले तीन दिनों से लगातार अलग-अलग स्थानों पर ट्रेनें रोके जाने और रेलवे पटरियों को जाम करने की घटनाएं सामने आई हैं। इन सभी के बीच, चर्चित खान सर (Khan Sir) समेत कई संस्थानों के मालिकों समेत 400 से अधिक लोगों के खिलाफ पटना में एफआईआर दर्ज की गई है। जी हाँ, हाल ही में मिली जानकारी के तहत राज्य की राजधानी स्थित पत्रकार नगर थाने में सोमवार और मंगलवार को हुई हिंसा के बाद हिरासत में लिए गए आंदोलनकारी छात्रों के बयान के आधार पर इस मामले में केस दर्ज किया गया है।

वहीं इस दौरान हिरासत में लिए गए आंदोलनकारी उम्मीदवारों ने कहा है कि सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल होने के बाद उन्हें हिंसा और दंगा करने की शह मिली थी, जिसमें खान सर को कथित तौर पर आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा रद्द नहीं होने पर छात्रों को सड़क पर आंदोलन करने के लिए उकसाते हुए देखा गया था।वहीं दूसरी तरफ छात्रों के प्रदर्शन पर Khan Sir ने बुधवार शाम को बयान जारी कर कहा था कि आरआरबी ने जो अभी फैसला लिया है, अगर वो 18 तारीख को ही ले लिया जाता, तो यह नौबत नहीं आती। हालाँकि आज एक अच्छा कदम यह उठाया है कि 16 फरवरी तक सभी स्टूडेंट से सुझाव मांगा है। आप सभी को हम यह भी जानकारी दे दें कि खान सर एक पॉपुलर कोचिंग टीचर हैं जो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म यूट्यूब पर खान जीएस रिसर्च सेंटर (Khan GS Research Centre) चलाते हैं और अपनी अनूठी शिक्षण शैली के लिए भी जाने जाते हैं।

क्या है पूरा मामला?- जी दरअसल रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) की ओर से नॉन टेक्नीकल पॉपुलर कैटेगरी (एनटीपीसी) भर्ती सीबीटी-1 परीक्षा के रिजल्ट 14 व 15 जनवरी, 2022 को जारी किए गए थे। इस परिणाम के आधार पर सीबीटी-2 यानी दूसरे चरण की परीक्षा के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया जाना है। ऐसे में उम्मीदवारों ने आरोप लगाया है कि आरआरबी एनटीपीसी परिणाम में धांधली हुई है। वहीं इस बात को लेकर बिहार के कई जिलों में विरोध और रेलवे भर्ती बोर्ड के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए छात्र लगातार पटरियों पर उतर रहे हैं।

आप सभी को बता दें कि बिहार के गया जिले में बीते बुधवार को प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने एक यात्री ट्रेन को आग के हवाले कर दिया। वहीं दूसरी तरफ छात्रों के प्रदर्शन के बीच रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने नौकरी चाह रहे अभ्यर्थियों से ‘सार्वजनिक संपत्ति’ को नष्ट नहीं करने का आग्रह करते हुए कहा कि, 'यदि वे इसे नुकसान पहुंचाएंगे तो उचित कार्रवाई की जाएगी।' जी दरअसल अश्विनी वैष्णव ने कहा, 'मैं अपने छात्र मित्रों से निवेदन करना चाहूंगा कि रेलवे आपकी संपत्ति है, आप अपनी संपत्ति को संभालकर रखें। आपकी जो शिकायतें और बिंदु अब तक उभर कर आए हैं उन सबको हम गंभीरता से देखेंगे। कोई भी छात्र कानून को हाथ में न ले।'

छात्रों के विरोध के बाद रेलवे भर्ती बोर्ड ने रद्द की NTPC ग्रुप डी परीक्षाएं

इस राज्य में बढ़ता जा रहा है कोरोना का प्रकोप, 24 में फिर सामने आए रिकॉर्ड तोड़ केस

किन्नर मर्डर केस का हुआ खुलासा, सच जानकर पुलिस के भी खड़े हो गए रोंगटे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -