राबड़ी को प्रशांत किशोर का मुंहतोड़ जवाब, कहा- मेरे सामने बैठ जाएं मीडिया के सामने फिर...

राबड़ी को प्रशांत किशोर का मुंहतोड़ जवाब, कहा- मेरे सामने बैठ जाएं मीडिया के सामने फिर...

पटना: 2019 लोकसभा चुनाव को देखते हुए वैसे तो देश भर में सियासी तापमान चरम पर है, किन्तु बिहार का तापमान सारे रिकॉर्ड तोड़ता दिख रहा है। सियासी संग्राम के बीच बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने एक ऐसा दावा किया हैं, जिसने बिहार की सुलगती सियासत में घी डालने का काम किया है।

उल्लेखनीय है कि, गत शुक्रवार को राबड़ी देवी ने बिहार के मुजूदा सीएम नीतीश कुमार के नजदीकी प्रशांत किशोर को लेकर दावा किया कि, वे राजद सुप्रीमो लालू यादव से मिलकर राजद और जदयू का विलय कराना चाहते थे। राबड़ी ने दावा कि, "नीतीश कुमार माफी और अनेकों तरह के लुभावने सौदे के साथ महागठबंधन में आने के लिए  गिड़गिड़ा रहे थे"। दरअसल, राबड़ी देवी ने दावा किया है कि, "नीतीश के कबूतर बार-बार खत लेकर आ रहे थे। एक बार उनके दूत को इस संबध में बात करने पर मैंने उसे घर से बाहर कर दिया था।''

राबड़ी देवी ने कहा है कि जनता के विश्वास और वोटों की डील करने वाले पलटू किसी के भी सगे नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा था कि अगर प्रशांत किशोर इस मुलाकत से मुकरते हैं तो वे सफेद झूठ बोल रहे हैं। वहीं दूसरी ओर राबड़ी देवी के बायनों पर पलटवार करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा है कि लालू जी जब चाहें, मेरे साथ प्रेस वालों के सामने बैठ जाएं, सबको पता चल जाएगा कि मेरे और उनके बीच क्या चर्चा हुई और किसने किसे क्या पेशकश दी थी। प्रशांत ने कहा कि सार्वजनिक कार्यालय और धन के गलत इस्तेमाल के आरोपों में दोषी पाए गए लोग सच्चाई के संरक्षक होने का दावा कर रहे हैं। 

खबरें और भी:-

बदरुद्दीन अजमल का विवादित बयान, कहा- चुनाव बाद चाय बेचते नज़र आएँगे मोदी...

चुनावी सभा में शरद पवार ने दे डाली पीएम मोदी को ऐसी सलाह

कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिद्धू पहुंचे जलियांवाला बाग स्मारक, श्रद्धांजलि दी