अविश्वास प्रस्ताव पर रस्साकशी, 20 जुलाई को

अविश्वास प्रस्ताव पर रस्साकशी, 20 जुलाई को

नई दिल्ली: मानसून सत्र के शुरू होने के दूसरे ही दिन आज सदन में काफी उथल-पुथल देखने को मिली. इसी बीच काफी समय से मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव दाखिल करने का प्रयास कर रही कांग्रेस और टीडीपी को आज इसमें सफलता मिल ही गई. सुमित्रा महाजन ने अविश्वास प्रस्ताव मंजूर कर लिया, साथ ही इसके लिए बहस और मतदान की तारिख भी तय कर दी. 20 जुलाई शुक्रवार को इस मुद्दे पर चर्चा होगी और मतदान किया जाएगा. इस अविश्वास प्रस्ताव को मोदी सरकार की अग्निपरीक्षा माना जा रहा है.  

सोनिया ने दिखाई ताकत कौन कहता है कि हमारे पास नंबर नहीं हैं

आपको बता दें कि मोदी सरकार के खिलाफ 8 अविश्वास प्रस्ताव लाए गए थे, इसमें पहला प्रस्ताव  टीडीपी सांसद के. श्रीनिवास द्वारा और बाकी  टीडीपी के ही टी नरसिम्हन, एनसीपी के तारिक अनवर, सीपीएम के मो. सलीम, कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे और के सी बेनुगोपाल और आरएसपी के एऩ के प्रेमचंद्रन की ओर से भी अविश्वास प्रस्ताव लाए गए थे. इन 8 में से सबसे पहला के. श्रीनिवास द्वारा लाए गए प्रस्ताव को मंजूरी मिली है.

मोदी सरकार की अग्निपरीक्षा, अविश्वास प्रस्ताव मंजूर

पिछले सत्र के दौरान टीडीपी ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर खूब हंगामा किया था. पार्टी की तरफ से अविश्वास प्रस्ताव भी लाया गया था. अब जब इस मुद्दे पर प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है, तो इस पुरे मानसून सत्र के हंगामेदार रहने के कयास लगाए जा रहे हैं. इनमे भी 20 जुलाई का दिन ख़ास होगा, जो आंध्र प्रदेश के मुद्दे पर सारी बातें साफ़ हो जाएंगी. 

यह भी देखें:- 

कटाक्ष: सदन में हंगामा भी जरुरी है भाई

 

?