मां नंदा-सुनंदा के दर्शन को लगी लोगों की भीड़, बकरा लेकर पहुंचा भक्त

देहरादून: उत्तराखंड के लोकपिय नंदा देवी महोत्सव में माता के श्रद्धालुओं ने कदली वृक्ष से मां नंदा सुनंदा की प्रतिमाओं का निर्माण सोमवार देर रात पूरा कर लिया। मंगलवार तड़के वैदिक मंत्रोच्चार के मध्य हुए पूजन तथा प्राण प्रतिष्ठा के पश्चात् नैनीताल के नैना देवी मंदिर परिसर में मां नंदा-सुनंदा की मूर्ति को श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ रखा गया। जिसके पश्चात् तड़के चार बजे से ही नैना देवी मंदिर में माता के दर्शन के लिए भक्तों की भीड़ उमड़नी आरम्भ हो गई। 

वहीं इस के चलते एक शख्स माता को चढ़ाने के लिए एक बकरा लेकर मंदिर की और पहुंचा, मगर पुलिस ने उसे मार्ग से ही लौटा दिया। माता के दर्शन के लिए श्रद्धालु तीन बजे से ही मंदिर में पहुंचने आरम्भ हो गए थे। साढ़े चार बजे के पश्चात् श्रद्धालुओं ने माता के दर्शन कर आशीर्वाद ग्रहण किया। प्रातः 7:30 बजे तक मंदिर में श्रद्धालुओं की लंबी लाइन लगी रही।

वही उसके पश्चात् भी मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं की लाइन लगी रही। इस के चलते मंदिर तथा इसके आसपास का पूरा माहौल नंदा-सुनंदा के जयकारों से गूंजता रहा। समारोह के चलते मंदिर परिसर तथा उसके आसपास के पूरे इलाके में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कराया गया। मौके पर सुरक्षा की दृष्टि को देखते हुए भारी आँकड़े में पुलिस के सैनिक भी तैनात रहे। बता दें कि सोमवार दोपहर 12 बजे से कदली पेड़ से मां नंदा-सुनंदा की प्रतिमा बनाने का काम आरम्भ हुआ था। नैना देवी मंदिर के दशावतार भवन में राम सेवक सभा से संबंधित कलाकारों ने चंद्र प्रकाश साह के नेतृत्व में मां नंदा व सुनंदा की प्रतिमाओं का निर्माण किया। 

अलीगढ़ को पीएम मोदी ने दिया बड़ा तोहफा, सीएम योगी के काम को भी सराहा

महाराष्ट्र: साकीनाका दुष्कर्म के बाद पुलिस ने जारी किया 'ऑपरेशन कवच', जानिए क्या है?

इस इंटरनेशनल वेब सीरीज में धमाल मचाएंगे वरुण धवन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -