आतंकियों के लिए फिर छलका 'महबूबा' का प्रेम, सेना के एनकाउंटर पर उठाए सवाल

श्रीनगर: पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) सुप्रीमो और जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती का दर्द एक बार फिर से आतंकियों के लिए छलका है। हर बार की तरह इस बार भी उन्होंने आतंकियों के बचाव में कुतर्क दिए हैं। महबूबा ने मंगलवार (16 नवंबर) को श्रीनगर के हैदरपोरा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच हुए एनकाउंटर के दौरान दो स्थानीय लोगों के मारे जाने पर चिंता जताई है।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उन्होंने कहा कि, 'हैदरपोरा एनकाउंटर में स्थानीय लोग (मालिक और एक डॉक्टर) मारे गए हैं। इस प्रकार से लोगों को मुठभेड़ में शील्ड बनाकर ले जाना गलत है। जम्मू-कश्मीर के लोगों के दिल हमसे और दूर होते जा रहे हैं, लोगों को अधिक गुस्सा आ रहा है, जिससे स्थिति सुधरने की जगह बिगड़ रही हैं।' वहीं, इस मामले पर चिनार कोर के जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल डीपी पांडे ने कहा कि, 'पुलिस के मुताबिक, श्रीनगर के हैदरपोरा में सोमवार को हुए एक एनकाउंटर के दौरान आतंकवादियों की गोलीबारी में एक डॉक्टर मारा गया था। ऐसे लोगों को सफेदपोश आतंकवादियों द्वारा चलाए जा रहे आंतकी गतिविधियों से सावधान रहना चाहिए।'

 

वहीं, कश्मीर पुलिस ने अपने बयान में बताया है कि श्रीनगर के हैदरपोरा में एक प्राइवेट बिल्डिंग में जारी अवैध कॉल सेंटर में आतंकवादियों के छिपे होने की सूचना मिलते ही पुलिस, 2RR और CRPF ने जॉइंट ऑपरेशन चलाकर आतंकियों को घेर लिया था। रिपोर्ट्स के अनुसार, एनकाउंटर में एक पाकिस्तानी आतंकवादी और उसके स्थानीय सहयोगी सहित चार लोग मारे गए। मरने वालों में मकान मालिक और एक डॉक्टर भी शामिल हैं, जिन्हें पुलिस ने आतंकी का सहयोगी बताया है। हालाँकि, उनके परिवार वालों ने पुलिस के आरोप को ख़ारिज किया है।

मुस्लिम इलाकों में कोरोना टीकाकरण की रफ़्तार सुस्त, अब सलमान खान की मदद लेंगे CM ठाकरे

Video: क्या ट्रांसफर के लिए पैसे देने पड़ते हैं ? शिक्षकों से सवाल पूछकर खुद घिर गए CM गहलोत

दिल्ली में प्रदूषण रोकने के लिए कई पाबंदियां लागू, जानिए किन गतिविधियों पर लगी रोक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -