झारखंड में 22 अप्रैल से एक सप्ताह का लॉकडाउन, उच्चस्तरीय बैठक के बाद लिया गया फैसला

Apr 20 2021 05:00 PM
झारखंड में 22 अप्रैल से एक सप्ताह का लॉकडाउन, उच्चस्तरीय बैठक के बाद लिया गया फैसला

रांची: झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने मंगलवार को एक उच्चस्तरीय बैठक में सूबे में बढ़ते कोरोना संक्रमण की कड़ी को तोड़ने के लिए 22 अप्रैल से 29 अप्रैल तक के लिए 'स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के नाम पर लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया है। इसके तहत केन्द्र सरकार, राज्य सरकार एवं प्राइवेट सेक्टर के चिह्नित कार्यालयों को छोड़कर सभी दफ्तर बंद रहेंगे एवं आवश्यक कार्य छोड़कर कोई भी घर से बाहर नहीं निकलेगा।

सीएम हेमंत सोरेन ने सरकार द्वारा हफ्ते भर इस लॉकडाउन के संबन्ध में लिये गये फैसले की जानकारी देते हुए बताया है कि 22 अप्रैल से 29 अप्रैल तक पूरे झारखंड में स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह मनाया जाएगा। सोरेन ने बताया है कि इस स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के तहत पूरे राज्य में केन्द्र सरकार, राज्य सरकार और प्राइवेट सेक्टर के निश्चित कार्यालयों के अलावा सभी दफ्तर बंद रहेंगे और कोई भी बिना जरुरी कार्य के घर से बाहर नहीं निकलेगा।

सोरेन ने बताया कि जरुरी सामग्री की दुकानों को छोड़कर तमाम दुकानें भी बंद रहेंगी। उन्होंने कहा कि एक हफ्ते के इस लॉकडाउन के दौरान कृषि, उद्योग एवं खनन क्षेत्रों को अपनी गतिविधियों के लिए छूट होगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सभी के जीवन की रक्षा के साथ ही जीविका की रक्षा के लिए भी प्रतिबद्ध है।

कोरोना की चपेट में आए तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर, राज्य में नाईट कर्फ्यू लागू

भारतीय अमेरिकी ऋषि कुमार ने 2022 में अमेरिकी प्रतिनिधि सभा का दूसरा कार्यकाल किया पूरा

ममता के मंत्री के बिगड़े बोल, केंद्रीय सुरक्षाबलों को कहा 'सुअर का बच्चा', वायरल हुआ वीडियो