इस उम्र में ही जमशेद जी ने रख दिया था उद्योग जगत में कदम, आज भी किये जाते है याद

May 19 2019 12:32 PM
इस उम्र में ही जमशेद जी ने रख दिया था उद्योग जगत में कदम, आज भी किये जाते है याद

जमशेदजी टाटा भारत के मशहूर उद्योगपति तथा औद्योगिक घराने टाटा समूह के संस्थापक थे। भारतीय उद्योग क्षेत्र में जमशेदजी ने जो योगदान दिया  वह असाधारण और बहुत ही महत्त्वपूर्ण है। जब सिर्फ यूरोपीय, विशेष तौर पर अंग्रेज़, ही उद्योग स्थापित करने में कुशल समझे जाते थे, तब जमशेदजी ने भारत में औद्योगिक विकास का मार्ग प्रशस्त किया था।

नर्मदा के मछुआरों ने लगाई पीएम मोदी से खून भरी गुहार

छोटी सी उम्र में शुरू किया व्यवसाय  

जमशेदजी टाटा का जन्म 3 मार्च 1839 में दक्षिणी गुजरात के नवसारी में एक पारसी परिवार में हुआ था। उनके पिता अपने ख़ानदान में अपना व्यवसाय करने वाले पहले व्यक्ति थे। मात्र चौदह वर्ष की आयु में ही जमशेदजी अपने पिता के साथ बंबई आ गए और व्यवसाय में क़दम रखा। व्यापार के सम्बन्ध में जमशेदजी ने इंग्लैंड, अमेरिका, यूरोप और अन्य देशों की यात्राएं की जिससे उनके व्यापार सम्बन्धी ज्ञान और सूझ-बूझ में वृद्धि हुई। इन यात्राओं से उनको यह अनुभव हो गया था कि ब्रिटिश आधिपत्य वाले कपड़ा उद्योग में भारतीय कंपनियां भी सफल हो सकती हैं।

राजस्थान : प्रदेश में अब भी जारी है आंधी और बारिश का दौर, आगे ऐसा रहेगा मौसम

जमशेदजी एक ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने न सिर्फ देश में औद्योगिक विकास का मार्ग प्रशस्त किया बल्कि अपने कारखाने में काम करने वाले श्रमिकों के कल्याण का भी बहुत ध्यान रखा। श्रमिकों और मजदूरों के कल्याण के मामले में वे अपने समय से कहीँ आगे थे। जमशेदजी टाटा ने 19 मई को जर्मनी के बादनौहाइम में अपने जीवन की अंतिम साँसें लीं थी.

पन्ना में अनियंत्रित होकर खाई में जा गिरी कार, चार महिलाओं की मौत

बुद्ध पूर्णिमा पर आस्था की डुबकी लगाने हरिद्वार पहुंचे बड़ी संख्या में श्रद्धालु

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में कल होगा 7 राज्यों की 59 सीटों के लिए मतदान