भारत के साइरस पूनावाला को मिला अंतर्राष्ट्रीय सम्मान, एक कप चाय की कीमत में देते हैं कोरोना वैक्सीन

नई दिल्ली: वैक्सीन निर्माता कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के चेयरमैन साइरस पूनावाला (Cyrus Poonawalla) ने सोमवार को कहा कि विश्व के गरीब देश कंपनी के बनाए टीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं. इसका कारण Vaccine का सस्ता होना है और इसे ‘एक कप चाय’ की कीमत पर भी मुहैया कराया जा रहा है. पूनावाला ने उद्योग मंडल महाराष्ट्र चैंबर ऑफ कॉमर्स, इंडस्ट्रीज एंड एग्रीकल्चर (MCCIA) द्वारा आयोजित किए गए पुणे अंतरराष्ट्रीय व्यापार शिखर सिम्मेलन में उक्त बातें कही. 

कार्यक्रम में पूनावाला को पद्म भूषण पुरस्कार पाने के लिये सम्मानित भी किया गया. उन्होंने कहा कि दुनिया की दो-तिहाई आबादी को कंपनी के एक या अधिक वैक्सीन दिए गए हैं. पूनावाला ने कहा कि, ‘हमारे अधिकतर वैक्सीन का उपयोग गरीब देश कर रहे हैं. UNISEF और अन्य परमार्थ संगठन वैक्सीन खरीदने को आगे आए हैं. हमने अपने कर्मचारियों और वैज्ञानिकों की सहायता से इसे सस्ता बनाया है और यह एक कप चाय के दाम के बराबर है’.

बता दें कि SII की शुरुआत अदार पूनावाला के पिता साइरस पूनावाला ने वर्ष 1966 में की थी. पारसी परिवार से आने वाले साइरस ने 12,000 डॉलर के साथ उन्‍होंने इस कंपनी की नींव रखी थी. उनका आइडिया घोड़ों के सीरम से वैक्‍सीन बनाने का था. देखते ही देखते SII विश्व के सबसे बड़े वैक्‍सीन निर्माताओं में शुमार हो गई. आज पूरी दुनिया में इस इंस्‍टीट्यूट द्वारा 1.5 बिलियन की वैक्‍सीन तैयार की जाती है और उन्‍हें बेचा जाता है. SII इस वक़्त BCG की वैक्सीन से लेकर पोलियो, डिप्‍थीरिया, टिटनेस और चेचक के साथ बच्‍चों में होने वाले टीकाकरण से संबंधित हर वैक्‍सीन को तैयार करती है.

उज्जैन में लगेगी दुनिया की पहली वैदिक घडी.., जानिए इसके अंकों का रहस्य

किराए का बॉयफ्रेंड चाहिए, तो बिहार आइए.., वैलेंटाइन डे पर निकला अनोखा ऑफर

तमिलनाडु शहरी स्थानीय निकाय चुनावों में नीट एक प्रमुख मुद्दा होगा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -