कई महंगी सड़क परियोजना का नितिन गडकरी ने किया शिलान्यास

Jul 10 2020 03:59 PM
कई महंगी सड़क परियोजना का नितिन गडकरी ने किया शिलान्यास

14 जुलाई को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी राज्य को लगभग 12 हजार करोड़ का उपहार दिया है. उन्होने इस बचट का ऐलान सड़क परियोजनाओं को लेकर किया है. इनमें महेंद्रगढ़-पेहवा (कुरुक्षेत्र) ग्रीन फील्ड हाईवे व सामरिक महत्व के रेवाड़ी-जैसलमेर राजमार्ग संख्या-11 का रेवाड़ी-नारनौल मार्ग मुख्यत स​मिलित किया है. इसके साथ ही, रेवाड़ी, अटेली व नारनौल बाईपास की भी आधारशिला रखी. 

'दिल बेचारा' का टाइटल ट्रैक हुआ रिलीज, शानदार मूव्स करते नजर आए सुशांत

6 वर्ष से लंबित नगरों का 14 किमी. लंबा आउटर बाईपास, रेवाड़ी-पटौदी-गुरुग्राम 42 किमी. का बनाया जाना है. वही, लंबा नेशनल हाईवे व रेवाड़ी से अटेली तक सामरिक व पर्यटन की नजरिए से जरूरी एनएच-11 को जोडा गया है. इनमें ज्यादातर परियोजनाएं दक्षिण हरियाणा से संबध रखती हैं. बता दें कि कुछ परियोजनाओं के अलावा ज्यादातर पर कार्य प्रगति पर है, किन्तु शिलान्यास नहीं किया जा सका है. साथ ही, नारनौल में प्रस्तावित 24 किमी लंबे बाईपास से रोहतक, जींद, महेंद्रगढ़, भिवानी, कैथल, करनाल व कुरुक्षेत्र जैसे शहरों से होते हुए पेहवा के करीब नेशनल हाईवे नंबर 152 में मिलने वाले ग्रीन फील्ड हाईवे को 9 हजार करोड़ के बजट में बनाना है. इस रास्त से आगे अंबाला होते हुए सीधे चंडीगढ़ पहुंचना आसान होगा. इस डेवलपमेंट का नाम छह चरणों में पूरा किया जाना है. 

विकास दुबे एनकाउंटर के बाद क्यों ट्विटर पर ट्रेंड हुए रोहित शेट्टी

रेवाड़ी-नारनौल हाईवे पर अटेली-नारनौल बाईपास समेत 2300 करोड़ की राशि खर्च की जानी है. नारनौल सड़क से राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-352 (रेवाड़ी-रोहतक हाईवे) तक 14 किमी लंबे रेवाड़ी आउटर बाईपास का निर्माण किया जाना है. जिस पर 800 करोड़ का व्यय होना है. रेवाड़ी-पटौदी-गुरुग्राम के 46 किमी लंबे हिस्से पर 1500 करोड़ की लागत खर्च किया जाना है. गडकरी इसी दिन इसका भी शिलान्यास करने वाले है. जिसके कुछ समय पूर्व ही नेशनल हाईवे दर्जा प्राप्त हुआ है. 

जब वनडे में हुई भारत की शर्मनाक हार, ये 3 मैच कोई नहीं रखना चाहेगा याद

आखिर कब तक बचेगी पीएम केपी शर्मा की कुर्सी ? फिर टली नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक

तो इस कारण मनाया जाता है रक्षाबंधन, भगवान श्री कृष्ण है ख़ास वजह