मध्यप्रदेश में भारी बारिश से कई गाँव टापू में तब्दील, नदी-नाले उफान पर

Sep 08 2018 03:42 PM
मध्यप्रदेश में भारी बारिश से कई गाँव टापू में तब्दील, नदी-नाले उफान पर

भोपाल: मध्य प्रदेश में बारिश ने फिर कहर बरपाना शुरू कर दिया है, पिछले 24 घंटों में राज्य की राजधानी भोपाल समेत, उमरिया, गुना और श्योपुर में भारी बारिश दर्ज की गई है. इसके अलावा बालाघाट, कटनी, शहडोल, नरसिंहपुर, मंडला समेत आसपास के जिलों में भी तेज़ बारिश की वजह से राज्य की कई नदियां उफान पर चल रही है. मुख्य नदी नर्मदा का जलस्तर बढ़ने से डिंडोरी इलाका काफी देर के लिए टापू बना रहा, साथ ही बारिश के कारण यातायात भी प्रभावित हुआ.

बीजेपी की कार्यकारिणी बैठक में गरजे अमित शाह, कहा भाजपा को कोई पराजित नहीं कर सकता

जबलपुर-डिंडौरी वाया शहपुरा और मंडला-डिंडौरी मार्ग शुक्रवार शाम पांच बजे तक बंद रहे. मार्ग बंद होने के कारण शिवपुरी के कल्याण पुर गांव में 5 लोग सिंध नदी में आई बाढ़ में फंसे हुए हैं, जबकि सुड गांव में भी 10 से ज्यादा लोग बाढ़ के पानी में फंसे हुए हैं. रहत और बचाव दल उनके रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए रवाना हो गया है. वहीं शिवपुरी में भी भारी बारिश के कारण नदी-नाले उफान पर हैं,  पचावली पर सिंध नदी पहली बार पुल से 10 फीट ऊपर बह रही है, मड़ीखेड़ा बांध के एक साथ दस गेट खोल दिए गए हैं. साथ ही आस-पास के कुछ गांवों से संपर्क भी टूट गया है. 

जल्द शुरू होगी बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक, अमित शाह पहुंचे, इन अहम् मुद्दों पर होगी चर्चा

इसके अलावा छतरपुर में  दो दिन से बारिश जारी है, जिले के नदी नाले उफान पर हैं. बिजावर और छतरपुर का संपर्क शाम को कट गया है. बड़ामलहरा से सूरजपुरा मार्ग भी बंद है.  छतरपुर रोड पर स्थित जमुनया नाला उफान था, वाहनों की आवाजाही बंद थी, इसी दौरान पुल पार कर रही एक कमांडर जीप नाले में बह गई जिसमें सवार 4 लोग भी नाले में बह गए. इनमें 3 लोग तैर कर बाहर आ गए, जबकि ड्राइवर का पता नहीं चला है. 

खबरें और भी:-​

बेघर दंपत्ति ने मूक-बधिर महिला को लिया गोद, मदद के लिए सरकार से लगाई गुहार

कश्मीर की समस्याओं के पीछे है इस नेता का हाथ?

अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस : जानिये कबसे और किसलिए मनाया जाता है यह ख़ास दिन

?