बेघर दंपत्ति ने मूक-बधिर महिला को लिया गोद, मदद के लिए सरकार से लगाई गुहार

Sep 08 2018 09:27 AM
बेघर दंपत्ति ने मूक-बधिर महिला को लिया गोद, मदद के लिए सरकार से लगाई गुहार

शिमला: आज के समय में जहां एक ओर लोग अपनी नन्ही-सी जान को कचरे में फेंक आते हैं वहीं दूसरी ओर एक बुजुर्ग दंपत्ति ने मूक-बधिर महिला को गोद लेकर ऐसे कट्टर लोगों के लिए नई मिसाल पेश की है. ये मामला हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला के पास एक गांव धमेची का है जहां 25 साल पहले एक दंपत्ति ने दिव्यांग महिला को गोद लिया था. चूंकि महिला दिव्यांग थी इस वजह से इस दंपत्ति ने उस महिला का बहुत ध्यान भी रखा.

दंपत्ति ने बताया कि जब उन्होंने इस दिव्यांग महिला को गोद लिया था तब उसका एक बेटा भी था. लेकिन महिला के बेटे की 19 साल पहले ही मौत हो गई थी. दंपत्ति ने बताया कि वो काफी ज्यादा अभाव में जी रहे हैं और वो बेसहारा हो गए है. उनके पास रहने के लिए कोई घर तक नहीं है इसलिए अब ये दंपत्ति मदद के लिए सरकार से अपील कर रहे हैं. दंपत्ति का कहना है कि वो बहुत गरीब हैं और इसलिए वो चाहते हैं कि सरकार उनकी मदद करे.

राज्य शासन विभाग ने अब इस मामले में संज्ञान लिया. राज्य के सामाजिक न्याय और सशक्तीकरण मंत्री राजीव सैजल ने कहा कि हमारी सरकार ऐसे लोगों की सेवा करने के लिए तत्पर है. इस मामले की जानकारी उन तक पहुंचाई गई है और वो ये सुनिश्चित करते हैं कि जांच प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद इस महिला की हर संभव मदद की जाएगी.

Video : भारत लौटने के सवाल पर भगोड़े माल्या ने दिया हैरान करने वाला जवाब

चाउमीन का बहाना देकर बच्ची को बनाया हवस का शिकार

दिल्ली से गिरफ्तार ISIS आतंकी बोला पूरे विश्व में फैलाना है कट्टरपंथ

?