जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद अमित मित्रा ने लिखी चिट्ठी, अनुराग ठाकुर बोले- 'माइक खराब था'

जीएसटी बैठक को लेकर भाजपा और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में बीते शुक्रवार को तकरार नजर आई है। जी दरसल बैठक पर सवाल उठाते हुए हाल ही में पश्चिम बंगाल के वित्तमंत्री अमित मित्रा ने वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण को चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी में उन्होंने कहा, ''बैठक में उनकी आवाज और सुझाव अनसुने कर दिए गए हैं।'' केवल यही नहीं बल्कि उन्होंने यह भी लिखा कि, ''उनकी आवाज नहीं सुनी गई। इसीलिए चिट्ठी लिखनी पड़ रही है।''

आगे चिट्ठी में उन्होंने कहा कि, ''कोरोना से जुड़े सामानों पर टैक्स किसी भी हालत में नहीं लगाया जाना चाहिए था। ये जन हित में नहीं है।'' अब यह सब जानने के बाद पलटवार करते हुए वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि, ''अमित मित्रा की आवाज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान ठीक से नहीं आ रही थी। इस बारे में राजस्व सचिव ने कहा भी कि वो वीडियो बंद कर सिर्फ ऑडियो के जरिए संवाद करें तो बेहतर रहेगा। लेकिन उन्होंने सलाह नहीं मानी बाद में जब उनकी तरफ से आवाज आनी बंद हो गई और दूसरे सदस्य बोलने लगे तब भी उन्होंने कुछ नहीं कहा।''

इसके अलावा अनुराग ठाकुर ने ये भी कहा, ''आखिर में वित्तमंत्री ने एक बार सभी की बातें पूरी हो जाने के बाद कहा कि यदि कोई कुछ और बोलना चाहे तो कह सकता है, उस समय भी अमित मित्रा चुप रहे। उनके मुताबिक काउंसिल में किसी के साथ भेदभाव नहीं किया जाता है। सभी को बातें कहने का पूरा मौका मिलता है। चर्चा के दौरान वित्तमंत्री किसी की बात काटती नहीं है बल्कि संयम के साथ सभी के विचारों को सुनती हैं।''

डोर-टू-डोर वैक्सीन देने वाला देश का पहला शहर बनेगा बीकानेर, सोमवार से होगा अभियान का आगाज

पेट्रोल और डीजल के दामों में आज मिली मामूली राहत, जानिए क्या है आज का भाव

गोवा में 21 जून तक बढ़ा लॉकडाउन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -