देवी अन्नपूर्णा की 'शोभा यात्रा' कानपुर पहुंची

कानपुर: शनिवार (13 नवंबर) को वाराणसी की यात्रा पर निकली देवी अन्नपूर्णा की शोभा यात्रा का जुलूस कानपुर पहुंचा। 15 अक्टूबर को कनाडा से देवी की मूर्ति पहुंची और 15 नवंबर को इसे वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर में स्थापित किया जाएगा। 15 नवंबर को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काशी में मां अन्नपूर्णा की मूर्ति की 'प्राण प्रतिष्ठा' करेंगे।

11 नवंबर को एक धार्मिक समारोह के बाद जिसमें मंत्रों का जप किया गया, उत्तर प्रदेश सरकार के प्रतिनिधियों ने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण से पत्थर की मूर्ति प्राप्त की। मूर्ति ऊंचाई में 17 सेंटीमीटर, चौड़ाई में 9 सेंटीमीटर और मोटाई में 4 सेंटीमीटर  है ।

केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी के मुताबिक, 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पद ग्रहण करने के बाद से देश में 42 यूनिक हेरिटेज ऑब्जेक्ट्स वापस आ गए हैं। 1976 से 2013 के बीच भारत में केवल 13 दुर्लभ प्रतिमाओं और चित्रों को देश में वापिस दी गयी है ।

इस समय दूसरे देशों में 157 मूर्तियां और पेंटिंग की खोज की गई है। उन्हें भारत वापस लाने के लिए कई देश चर्चाओं में हैं। इस आयोजन में सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया, स्विट्जरलैंड और बेल्जियम से मूर्तियां लाने की कोशिश की जा रही है। अमेरिका से मोटे तौर पर 100 मूर्तियों को वापस लाने का भी प्रयास किया जा रहा है।

T20 वर्ल्ड कप: फाइनल मैच के लिए ICC ने किया अंपायर्स के नाम का ऐलान, एक भारतीय भी शामिल

वर्क आउट करने के बाद बॉटल में ही पेशाब करता है ये एक्टर, वजह जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

जानिए सर्दियों में मूली खाने के ये लाभदायक फायदे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -