राफेल की डिलीवरी पर नहीं पड़ेगा कोरोना का असर, फ्रांस ने भारत को दिलाया भरोसा

पेरिस: पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संकट के कारण कामकाज पूरी तरह से ठप हो गया है. अब जब कुछ देशों में हालात नियंत्रण में आते दिख रहे हैं, तो सब पटरी पर लौट रहा है. इस बीच जब भारत की सीमा पर चीन से तनातनी जारी है, तब सुरक्षा के दृष्टि से बड़ी खबर सामने आई है. फ्रांस से जुलाई में मिलने वाले राफेल फाइटर जेट की डिलीवरी में किसी तरह की देरी नहीं होगी.

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ले से बात की है. इस दौरान फ्रांस की तरफ से आश्वासन दिया गया है कि भारत को मिलने वाले राफेल फाइटर जेट की डिलीवरी वक्त पर होगी, कोरोना महासंकट का प्रभाव इस पर नहीं पड़ेगा. दोनों देशों के रक्षा मंत्रियों ने बातचीत में द्विपक्षीय संबंध, क्षेत्रीय सुरक्षा को लेकर विचार विमर्श किया, इसके साथ ही कोरोना के संकट पर भी बात हुई. उल्लेखनीय है कि फ्रांस यूरोप के उन देशों में शामिल रहा है, जहां कोरोना ने अपना सबसे ज्यादा कहर बरपाया है.

आपको बता दें कि भारत ने फ्रांस से राफेल फाइटर जेट खरीदने का सौदा किया है, जिसके पहली खेप में कुल चार राफेल विमान भारत में इस जुलाई में आ सकते हैं. इन जेट्स को अंबाला के एयरफोर्स स्टेशन पर तैनात किया जा सकता है. आपको बता दें कि भारत ने 2016 में पीएम नरेंद्र मोदी की पहल पर 36 राफेल विमानों के लिए समझौते पर दस्तखत किए थे. बीते साल भारत की ओर से वायुसेना के कुछ अफसर फ्रांस भी गए थे, तब वहां इनकी उड़ाने का प्रशिक्षण शुरू किया गया था. गौरतलब है कि गत वर्ष अक्टूबर में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह फ्रांस गए थे, जहां उन्होंने राफेल विमान को रिसीव किया था. खुद राजनाथ सिंह ने राफेल फाइटर जेट में उड़ान भरी थी.

एशिया का सबसे महंगा तलाक़, रातों-रात अरबों की मालकिन बन गई महिला

धरती की तरफ तेजी से बढ़ रही एक बड़ी आफत, NASA ने किया सतर्क

लद्दाख में चीनी सेना को लेकर अमेरिका ने दी बड़ी जानकारी, सतर्क हुआ भारत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -