मनी लॉन्ड्रिंग मामला: वीरभद्र सिंह एंड फैमली के खिलाफ तय होंगे आरोप, आज सुनवाई करेगी अदालत

मनी लॉन्ड्रिंग मामला: वीरभद्र सिंह एंड फैमली के खिलाफ तय होंगे आरोप, आज सुनवाई करेगी अदालत

नई दिल्ली: आय से अधिक संपत्ति से सम्बंधित मनी लांड्रिंग मामले में हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह एंड फैमली के विरुद्ध आरोप निर्धारित करने पर मंगलवार को बहस होगी. दरअसल, गत सुनवाई में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने आरोप निर्धारित करने पर बहस की तारीख 9 और 10 अप्रैल के निर्धारित की थी. इससे पहले इस मामले में वीरभद्र एंड फैमली को जमानत दी गई थी. 

यूपी के डिप्टी सीएम बोले, चुनाव के बाद मायावती को धोखा देंगे अखिलेश, भाजपा ही बचाएगी

अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के आरोपपत्र पर संज्ञान लेते हुए वीरभद्र सिंह और अन्य को आरोपी के तौर पर समन भेजा था. आपको बता दें कि ईडी ने धनशोधन मामले में सप्लीमेंट्री आरोपपत्र अदालत में दाखिल किया था, जिसमें वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह को अभियुक्त बनाया गया था. इससे पहले ईडी की तरफ से दाखिल की गई चार्जशीट में वीरभद्र सिंह और उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह का नाम शामिल है.

अहंकार से भरा हुआ है भाजपा का घोषणापत्र, मात्र एक आदमी की सोच का नतीजा - राहुल गाँधी

ईडी की तरफ से दाखिल की गई सप्लीमेंट्री चार्जशीट में शिमला ग्रामीण से विधायक विक्रमादित्य के साथ ही तरानी इंफ्रास्ट्रक्चर के निदेशक चंद्र शेखर और राम प्रकाश भाटिया को भी अभियुक्त बनाया गया था. ये दोनों वीरभद्र सिंह के साथ सीबीआई के मामले में भी आरोपी हैं. इस मामले में वीरभद्र सिंह, उनकी धर्मपत्नी प्रतिभा सिंह, यूनिवर्सल एप्पल एसोसिएशन के मालिक चुन्नी लाल चौहान, जीवन बीमा निगम (एलआइसी) के एजेंट आनंद चौहान सहित दो अन्य प्रेम राज और लवण कुमार रोच के विरुद्ध पहले ही आरोपपत्र दाखिल किया जा चुका है.

खबरें और भी:-

गाँधीनगर लोकसभा सीट: गुलबर्ग सोसायटी दंगा के पीड़ित फिरोज खान, देंगे अमित शाह को टक्कर

असम: बीफ बेचने के आरोप में मुस्लिम शख्स को भीड़ ने घेरा और फिर...

अवध की सीटों पर शाह की नजर, प्रबंधकों को दिया जीत का मंत्र