भारत के तटीय शहर में तबाही मचाने के लिए आगे बढ़ रहा तुफान

Jun 02 2020 09:59 AM
भारत के तटीय शहर में तबाही मचाने के लिए आगे बढ़ रहा तुफान

भारत की भौगोलिक परिस्थिति के मद्देनजर अरब सागर के ऊपर बने कम दबाव के क्षेत्र से अगले दो दिनों में चक्रवात शुरू होगा. इसे निसर्ग नाम दिया गया है. एक दिन बाद यह चक्रवात पश्चिमी तटों से गुजरते हुए करीब सौ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गुजरात और महाराष्ट्र के तटों से टकराएगा. इसके चलते इन क्षेत्रों में भारी बारिश होगी. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने विभाग विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक में तैयारियों का जायजा लिया.

अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को लेकर उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कही यह बात

अपने बयान में भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने सोमवार को कहा कि 3 जून को चक्रवाती तूफान 'निसर्ग' महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में हरिहरेश्वर और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों से टकरा सकता है. IMD के उप महानिदेशक आनंद कुमार ने कहा कि अरब सागर में बने निम्न दाब के क्षेत्र की वजह से अगले 24 घंटे में चक्रवात बन सकता है. निसर्ग चक्रवात 2 जून की सुबह तक उत्तर की ओर बढ़ेगा. फिर उत्तर-उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ने के बाद हरिहरेश्वर (रायगढ़, महाराष्ट्र) और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों से 3 जून की शाम या रात तक टकरा सकता है. बता दें कि हरिहरेश्वर शहर मुंबई और पुणे दोनों से 200 किलोमीटर की दूरी पर और दमन से 360 किलोमीटर की दूरी पर है.

मौसम विभाग का अनुमान रहा सही, झमाझम हो रही बारिश

इसेक अलावा गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि हालात से निपटने के लिए महाराष्ट्र, गुजरात, दमन एवं दीव और दादर व नगर हवेली में एनडीआरएफ की 23 टीमें तैनात की गई हैं. इनमें से 11 टीमें गुजरात में, 10 टीमें महाराष्ट्र में और दो टीमें दमन एवं दीव और दादर व नगर हवेली में तैनात की गई हैं. एनडीआरएफ की एक टीम में 45 सदस्य होते हैं.

इस कानून को भूपेश सरकार ने किया समाप्त

बच्चों के अभिभावक स्कूल खोलने के पक्ष में नहीं, केंद्र सरकार को लिखा पत्र

क्या संविधान से हट जाएगा 'इंडिया' नाम ?