एमपी के इन तीन जिलों में पदस्थ होंगे 204 डॉक्टर

मध्य प्रदेश के कई जिलों में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस खतरनाक वायरस के संक्रमण के विरुद्ध युद्ध में प्रदेश में हॉटस्पॉट बने भोपाल इंदौर और उज्जैन में अतिरिक्त रूप से 204 डॉक्टर पदस्थ होंगे. कोरोना संक्रमण के विरुद्ध जारी इस युद्ध में पीपीटी मास्क, सैनिटाइजेशन सामग्री, टेस्टिंग क्षमता, कोविड समर्पित अस्पतालों की संख्या में लगातार विस्तार किया जा रहा है.

इसी क्रम में दक्ष डॉक्टरों की कमी नहीं होने देने के उद्देश्य से प्रदेश के चिकित्सा महाविद्यालयों से 31 मार्च को इंटर्नशिप पूर्ण किए 204 बंधपत्र स्नातक चिकित्सकों को भोपाल, इंदौर और उज्जैन में पदस्थ किया जाएगा.

बता दें की संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएँ द्वारा जारी आदेश के मुताबिक कोविड-19 के मरीजों की संख्या को देखते हुए 71 बंधपत्र चिकित्सकों की सेवाएं भोपाल को, 87 की सेवाएं इंदौर और 46 की सेवाएं उज्जैन के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को सौंपी गई हैं. चिकित्सकों द्वारा उपस्थित नहीं होने पर उनके खिलाफ एस्मा के तहत कार्यवाही की जाएगी. समस्त चिकित्सकों के रहने और भोजन की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा की जाएगी. चिकित्सकों को प्रतिमाह रूपये 55,000 पारिश्रमिक देय होगा.

चंबल नदी पार कर मध्य प्रदेश आने वालों पर रखी जा रही है नजर

कोरोना : उज्जैन में तीन और नए केस आए सामने, मौत का आंकड़ा भी बढ़ा

रासुका भोग रहे जावेद ने कोरोना से जंग जीती, भेजा गया भोपाल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -