अली भी हमारे हैं और बजरंगबली भी हमारे हैं , क्योंकि वो दलित थे - मायावती

Apr 13 2019 06:04 PM
अली भी हमारे हैं और बजरंगबली भी हमारे हैं , क्योंकि वो दलित थे  - मायावती

लखनऊ : 2019 लोकसभा चुनाव के तहत दूसरे चरण की वोटिंग 18 अप्रैल को है. इसको देखते हुए बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने बुलंदशहर में चुनावी रैली की. इसमें उन्‍होंने अपील की है कि, 'हमें अली और बजरंगबली दोनों चाहिए क्‍योंकि वे दलित समाज से हैं. अली भी हमारे है और बजरंगबली भी हमारे हैं.' मायवती ने कहा कि ये जाति की पहचान भी सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने की है, हमने नहीं.

मायावती ने अपने सम्बोधन में यह भी कहा कि मैं चप्पल उतारकर ही मंच पर आती हूं. आरएसएस, पूंजीवादियों को अवश्य सत्ता से बाहर भेजना है. चौकीदारी की ये नई नौटंकी इन्हें नहीं बचा पाएगी. छोटे बड़े चौकीदार कितना ही जोर क्यों न लगा लें. वोट डालने जाएं तो कोई आपकी जाति पूछे तो उसे आप जाति मत बताइए. आप लोग कह देना जाति से क्‍या लेना देना है. आप जाति बताने को नज़रअंदाज़ करना. हवा हवाई घोषणा पत्रों के बहकावे में मत आना.

मायावती ने कहा है कि भोजन बाद में करना लेकिन पहले वोट डालने जाना. मायावती ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा है कि नरेंद्र मोदी ईमानदार और गंभीर होते तो इन्हें चुनाव घोषित होने से पहले ही अपने वादे पूरे करने चाहिए थे. बल्कि इन्होंने पूंजीपतियों को मालामाल किया और उनकी चौकीदारी में ही लगे रहे. कांग्रेस भी प्रलोभन भरे वादे कर रही है. मायवती ने कहा कि इस चुनाव में, कांग्रेस ने देश के  गरीबों को जो 6000 प्रतिमाह देने की बात कही है, उससे गरीबी का समाधान होने वाला नहीं है.

खबरें और भी:-

फ़ारूक़ अब्दुल्ला और आज़म खान पर बरसे शाहनवाज़, कांग्रेस से भी किया सवाल

तमिलनाडु में बोले पीएम मोदी, कहा - पिता वित्त मंत्री बने और बेटा देश लूटता रहा

शिरडी के साई मंदिर में रामनवमी की धूम, भक्तों ने रामलला को झुलाया पालना