BJP नफरत फैलाने के लिए ई-रावणों का इस्तेमाल कर रही है: अखिलेश यादव

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव लगातार बीजेपी को अपने निशाने पर ले रहे हैं। अब एक बार फिर से अखिलेश यादव ने BJP पर करारा वार किया है। जी दरअसल हाल ही में अखिलेश यादव ने कहा है, 'बीजेपी 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों से पहले प्रचार और नफरत फैलाने के लिए सोशल मीडिया पर 'ई-रावणों' का इस्तेमाल कर रही है।' बीते शनिवार को वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर फर्जी खबरों के खतरों को रेखांकित करते हुए समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने यह सब कहा है।

जी दरअसल यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री ने हाल ही में दिए एक बयान में कहा कि, 'उन्होंने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को बीजेपी द्वारा अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ इस्तेमाल की जाने वाली सोशल मीडिया सामग्री के प्रति सचेत किया है और उन्हें अनुशासित और सभ्य होने के लिए भी कहा है।' इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा कि, "राक्षस रावण की तरह, बीजेपी अपना प्रचार करने और नफरत फैलाने के लिए सोशल मीडिया पर 'ई-रावण' का इस्तेमाल कर रही है। रावण की तरह, वे सोशल मीडिया पर भेष बदलकर झूठ और अफवाहें फैला रहे हैं।" इसके अलावा उन्होंने यह भी दावा किया है कि, "छद्म बीजेपी नेता एसपी समर्थकों के रूप में खुद को बताते हैं और वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर अश्लील टिप्पणी पोस्ट करते हैं। मैंने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से सतर्क रहने और ऐसे संदिग्ध तत्वों की गतिविधियों पर नजर रखने को कहा है। पार्टी कार्यकर्ताओं से भी कहा गया है कि वे सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक कुछ भी साझा, जवाब या फॉरवर्ड न करें और पार्टी कार्यालय को इसकी रिपोर्ट करें।"

इसी के साथ अखिलेश यादव ने चेतावनी देते हुए यह भी कहा, "जैसा कि राज्य के चुनाव नजदीक हैं, बीजेपी के लोग कुछ भी कर सकते हैं क्योंकि वे सत्ता हथियाने के लिए लोगों को बेवकूफ बनाने के लिए झूठ फैलाने में माहिर हैं। उनका उद्देश्य लोगों का ध्यान मुख्य मुद्दों से हटाना है।" उन्होंने आगे कहा, "हमने अपने कार्यकर्ताओं से सोशल मीडिया पर उनके द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली भाषा में अनुशासित, सभ्य और संयम बरतने के लिए कहा है।''

आज उत्तरप्रदेश दौरे पर हैं गृहमंत्री अमित शाह, देंगे कई सौगातें

तेलंगाना: मॉल समेत इन जगहों पर वैक्सीन के दोनों डोज लगवा चुके लोगों को मिलेगी एंट्री!

बढ़ते कोरोना मामले खड़ा कर सकते है बड़ा खतरा, 24 घंटों में फिर सामने आया भयावह आंकड़ा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -