तेलंगाना: मॉल समेत इन जगहों पर वैक्सीन के दोनों डोज लगवा चुके लोगों को मिलेगी एंट्री!

हैदराबाद: तेलंगाना में सरकार अपने स्तर पर काफी स्ट्रीक हो गई है और कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रयासरत है। यहाँ अब सरकार केवल वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके लोगों को ही होटल, मॉल, सिनेमा हॉल आदि में जाने की अनुमति देने पर विचार कर रही है। जी दरअसल तेलंगाना सरकार फ्रांस द्वारा अपनाई गई इसी तरह की रणनीति की तर्ज पर ये फैसला लेने की बात कर रही है। इस योजना के बारे में बताते हुए, पब्लिक हेल्थ डॉयरेक्टर डॉ जी श्रीनिवास राव ने कहा, “हम भविष्य में इस योजना को लागू कर सकते हैं।”

इसी के साथ श्रीनिवास राव ने आगे यह कहा कि, ‘लोगों को वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सभी सावधानी बरतने और वैक्सीन लेने की जरूरत है। राज्य में दूसरी लहर अभी भी सक्रिय है और खम्मम, नलगोंडा, करीमनगर, जीएचएमसी और पेद्दापल्ली सहित कम से कम नौ जिलों में मामलों की संख्या अधिक है। डेल्टा वायरस अत्यधिक संक्रामक है। लोगों को घर के अंदर और बाहर जाते समय मास्क पहनना चाहिए।’ वहीँ उन्होंने कुसुमांची गांव का भी उदाहरण दिया, जहां हाल ही में मामलों में तेजी आई थी। यहाँ पॉजिटिव मरीज आइसोलेशन में रहने के बजाय खुलेआम घूमते मिले।

ऐसे में अधिकारी ने कहा, ''हम वर्तमान में मंचेरियल, जीएचएमसी, पेद्दापल्ली में दूसरों के बीच प्रकोप देख रहे हैं। यह देखना हमारी जिम्मेदारी है कि यह तीसरी लहर में न बदल जाए। मई के मध्य में हैदराबाद में मिले डेल्टा प्लस वायरस के दो मामलों पर अधिकारी ने कहा कि दोनों मरीज सुरक्षित हैं और उनके सभी संपर्कों का पता लगाया गया और उनका परीक्षण किया गया। हालांकि, कोई भी संपर्क सकारात्मक नहीं पाया गया।'' आपको बता दें कि इस मुद्दे को संसद में भी उठाया गया था, और इस पर केंद्र ने कहा कि हवाई अड्डे पर दो मामलों का पता चला था और ये ट्रांजिट यात्रियों के थे।

बढ़ते कोरोना मामले खड़ा कर सकते है बड़ा खतरा, 24 घंटों में फिर सामने आया भयावह आंकड़ा

असम-मिजोरम को RSS ने भेजा One Nation, One People का संदेश

केरल के बाद महाराष्ट्र में छाने लगा जीका वायरस का कहर, 50 साल की महिला मिली संक्रमित

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -