'श्रीराम काल्पनिक, तीन तलाक आस्था का विषय..', ये हैं देश के सबसे बड़े वकील कपिल सिब्बल

कांग्रेस के दिग्गज नेता और पेशे से वकील कपिल सिब्बल, केंद्रीय कैबिनेट में सूचना प्रोद्योगिकी और विधि एवं न्याय मंत्री है। सिब्बल वर्तमान में दिल्ली के चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र से सांसद है। वहीं हिंदी संस्थान में अध्यक्ष पद पर भी रह चुके हैं।  कपिल सिब्बल का जन्म 8 अगस्त, 1948 जालंधर, पंजाब में हुआ था। कपिल सिब्बल के पिता का नाम हीरा लाल सिब्बल और माता का नाम कैलाश रानी है। कपिल सिब्बल के पिता हीरा लाल सिब्बल एक जाने माने वकील थे, उन्हें सन् 2006 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।

कपिल सिब्बल 1964 में दिल्ली आ गए और सेंट स्टीफंस कॉलेज से इतिहास में MA, दिल्ली यूनिवर्सिटी से LLB और 1977 में हार्वर्ड लॉ स्कूल से LLM की परीक्षा पास की। उन्होंने प्रतिष्ठित सिविल सेवा परीक्षा पास की, किन्तु विधि में अपना कैरियर चुना। 1972 में विधि-वर्ग (बार) जॉइन किया और वर्ष 1983 में वरिष्ठ वकील के रूप में पदनामित किए गए। सिब्बल 1989 और 1990 के बीच भारत के एडीशनल सॉलीसीटर जनरल रहे। कपिल सिब्बल ने 13 अप्रैल 1973 में नीना सिब्बल से शादी की। उनके दो पुत्र अमित और अखिल हैं, जिन्होंने कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में अध्ययन किया है और प्रतिष्ठित हार्वर्ड और स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से डिग्री प्राप्त कर भारत में वकालत की प्रेक्टिस कर रहे हैं।

बता दें कि सिब्बल देश के सबसे महंगे वकीलों में शामिल हैं और कांग्रेस के अधिकतर मामलों में वे ही जिरह करते नज़र आते हैं। देश के बहुचर्चित राम मंदिर-बाबरी मस्जिद मामले में भी सिब्बल, सुप्रीम कोर्ट में सुन्नी वक़्फ बोर्ड की तरफ से लड़े थे। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने ही सुप्रीम कोर्ट में सदियों से भारतवासियों के आराध्य रहे श्री राम को काल्पनिक बताया था। दरअसल, UPA -2 के समय जब, कांग्रेस रामसेतु तोड़ना चाह रही थी, तब सुप्रीम कोर्ट में सिब्बल ने कांग्रेस सरकार की तरफ से बयान दिया था कि राम सेतु जैसी कोई चीज़ नहीं है, यह एक कोरी कल्पना है।  वहीं इन्ही, कपिल सिब्बल ने तीन तालक को 1400 साल पुरानी प्रथा और आस्था का विषय करार देते हुए सुप्रीम कोर्ट में उसका बचाव किया था। 

100 के पार पहुंचा पेट्रोल-डीजल का भाव, जानिए आज का दाम

आखिर क्यों मनाया जाता है ‘अंतर्राष्ट्रीय बिल्ली दिवस’, जानिए इसका महत्व

KELTRON ने रक्षा उपकरणों के निर्माण के लिए NPOL ने दिया सहयोग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -